Afghanistan Crisis: तालिबान ने लूट लिया अमेरिका का बड़ा खजाना, व्हाइट हाउस ने दी यह जानकारी

अमेरिका वाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने कहा हमारे पास अभी पूरी तस्वीर नहीं है। जो इस बात की जानकारी दे सके कि रक्षा सामग्री और सामान कहां गया। लेकिन निश्चित रूप से इसका बहुत सारा हिस्सा तालिबान के हाथों में चला गया है ।

तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा किए जाने के बाद वहां की स्थिति हर किसी के लिए एक चर्चा का विषय बनी हुई है। इसी दौरान व्हाइट हाउस ने खुलासा किया है कि अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान ने अमेरिकी सेना के हथियार और गाड़ियों को लूट लिया है। मंगलवार के दिन वाइट हाउस की तरफ से जारी एक बयान में बताया गया कि अमेरिकी सेना के साथ दो दशकों के युद्ध के बाद और अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान ने अमेरिकी सैन्य सामग्री को बड़ी मात्रा में इकट्ठा किया है।

जैक सुलिवन ने क्या कहा ?

जैक ने कहा,” जाहिर है हमारे पास अभी पूरी तस्वीरें नहीं है। जो इस बात की पुष्टि कर सके की रक्षा सामग्री का पूरा सामान कहां गया है ? लेकिन निश्चित रूप से इसका काफी ज्यादा हिस्सा तालिबान के हाथों में चला गया है ।”

तालिबान से लड़ने की मदद करने के लिए अफगान सेना को ब्लैकहॉक्स की सप्लाई की गई थी। लेकिन अफगानी सेना ने जल्द ही इस्लामी विद्रोहियों के आगे घुटने टेक दिए। जिसके साथ ही हथियारों और उनके हेलीकॉप्टर के बड़े भंडार तालिबान के कब्जे में हो गए हैं।- जैक सुलिवन ने कहा।

जानिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने क्या कहा?

यूएस प्रेजिडेंट जो बिडेन ने अफगानिस्तान में से अमेरिकी सेना को वापस बुलाने के फैसले का बचाव करते हुए अफगान लीडरशिप को बिना किसी संघर्ष के तालिबान को सत्ता सौंपने के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने साथ में ही तालिबान को भी चेतावनी दी है कि अगर उसने अमेरिकी कर्मियों पर अटैक किया या देश में उनके ऑपरेशन में बाधा पहुंचाई तो अमेरिका जवाबी कार्रवाई करेगा।

जो बिडेन ने अफगानिस्तान से आ रही तस्वीरों और वीडियो को बहुत परेशान करने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सैनिक किसी ऐसी युद्ध में नहीं मर सकते, जो अफगान सैनिक अपने लिए लड़ना नहीं चाहते। देश को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा,” मैं अपने फैसले के साथ पूरी तरह सहमत हूं।  मैंने 20 सालोंमें अमेरिकी सेना को वापस बुलाने का कभी अच्छा समय नहीं आया। इसलिए हम अभी तक वहां थे।”

Comments

Translate »