अमेठी से राहुल गांधी का नामांकन 22 तक टला

राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच को 22 अप्रैल तक स्थगित करने का अमेठी चुनाव आयोग के अधिकारी ने दिया आदेश। खामियों के चलते दोबारा होगी जांच। निर्दलीय उम्मीदवार ने की थी शिकायत।

अमेठी रिटर्निंग ऑफिसर राम मनोहर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच 22 अप्रैल तक स्थगित की है। एक निर्दलय उम्मीदवार ध्रुव लाल ने राहुल गांधी की उम्मीदवारी में विसंगतियों को लेकर की थी शिकायत।

ध्रुव लाल के वकील रवि प्रकाश ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया ,”एक कंपनी के समावेश में जोकि यूनाइटेड किंगडम में रजिस्टर्ड है जहां उन्होंने खुद को वहां का नागरिक घोषित किया हुआ है। लोगों के प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत गैर भारतीय देश में चुनाव नही लड़ सकता।

‘राहुल गांधी किस आधार पर ब्रिटिश नागरिक बने ?और उसके बाद उन्होंने भारत में नागरिकता कैसे ग्रहण की ?जब तक इस मसले पर स्पष्टता सामने नही आ जाती, तब तक राहुल गांधी का नामांकन पत्र स्वीकार नही किया जाना चाहिए” , वकील रवि प्रकाश ने कहा।

वकील प्रकाश ने कहा ,राहुल गांधी के 2003 से 2009 के बीच शपथ पत्र में यूनाइटेड किंगडम में सम्पत्तियों का ब्यौरा नही है। उन्होंने कहा,राहुल गांधी की शैक्षणिक योग्यता में भी कई विसंगतियां हैं। उनकी शैक्षणिक योग्यता उनके दस्तावेजों से मिलान नही कर रही हैं। उनके कॉलेज के दस्तावेजों में ‘राउल विन्सी’ है जबकि राहुल गांधी के नाम से कोई सर्टिफिकेट नही है। हम पूछते है क्या ‘राउल विन्सी’ और राहुल गांधी एक ही व्यक्ति है ?अगर ऐसा नही है तो वो अपने ओरिजिनल सर्टिफिकेट दें,ताकि सत्यापित किए जा सकें।

राहुल गांधी के पारंपरिक गढ़ अमेठी में 6 मई को मतदान होना है। नतीजे 23 मई को आएंगे।

Comments

Translate »