बड़ी खबर : ब्रिटिश पुलिस ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को किया गिरफ्तार

0
47 वर्षीय विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है।लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने गुरुवार सुबह ट्विटर पर असांजे की गिरफ्तारी की
47 वर्षीय विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है।लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने गुरुवार सुबह ट्विटर पर असांजे की गिरफ्तारी की

47 वर्षीय विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है।लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने गुरुवार सुबह ट्विटर पर असांजे की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

असांजे 2012 में केंद्रीय लंदन में इक्वाडोरियन दूतावास में रह रहे थे, जबकि स्वीडन में यौन उत्पीड़न के आरोपों पर पूछताछ में वांछित थे। असांजे ने अपनी बेगुनाही कायम रखी और दावा किया कि आरोप संयुक्त राज्य में उन्हें प्रत्यर्पित करने के प्रयास से ज्यादा कुछ नहीं हैं।

असांजे ने डर के मारे अगस्त 2012 से दूतावास नहीं छोड़ा था।इक्वाडोर की राजनयिक धरती पर उनको गिरफ़्तार और प्रत्यर्पित किये जाने की बात खबरों में है।

इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने एक ट्वीट में कहा कि उनकी सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों के बार-बार उल्लंघन के लिए असांजे की स्थिति को वापस ले लिया। मोरेनो ने इसे,अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों और दैनिक जीवन के लिए बार-बार उल्लंघन के कारण, एक संप्रभु निर्णय के रूप में वर्णित किया।

असांजे ने 2012 में लंदन में दूतावास में शरण ली थी और तब से अब तक अंदर ही रहता था। पुलिस ने कहा कि असांजे को एक केंद्रीय लंदन पुलिस स्टेशन में हिरासत में ले लिया गया है, जहां वह जल्द से जल्द वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किये जाएंगे।

पोस्ट किए गए वीडियो में, लगभग पांच से छह लोगों को सूट में जबरन एस्कॉर्ट करते हुए दूतावास की इमारत से बाहर ले जाते हुए दिखाया गया है , जब वह लड़खड़ाया और पुलिस वैन में सवार हो गया।

असांजे वर्षों से दूतावास से बाहर नहीं आए थे क्योंकि उन्होंने विकीलीक्स के माध्यम से संयुक्त राज्य अमेरिका को हजारों वर्गीकृत सैन्य और राजनयिक केबलों के प्रकाशन के लिए गिरफ्तारी और प्रत्यर्पण की आशंका जताई थी।

विकीलीक्स ने ट्विटर पर कहा कि इक्वाडोर के राजदूत ने जूलियन असांजे को गिरफ्तार करने के लिए लंदन दूतावास में पुलिस को बुलाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here