पायलट की गलती के कारण क्रैश हुआ था सीडीएस बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर

भारतीय वायुसेना ने 8 दिसंबर 2021 को जनरल बिपिन रावत के हेलीकॉटर के दुर्घटनाग्रस्त होने की रिपोर्ट सौंप दी है। इस दुर्घटना में सीडीएस बिपिन रावत उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 12 अन्य एयरफोर्स और सेना के जवानों और अधिकारीयों की मौत हो गई थी। जनरल रावत के हेलीकॉटर क्रैश होने की प्रारंभिक रिपोर्ट सौंप दी गई है।

एयरफोर्स ने कहा कि 8 दिसंबर 2021 को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना को लेकर ट्राई सर्विसेज कोर्ट ऑफ़ इन्क्वायरी ने अपनी प्राथमिक निष्कर्ष रिपोर्ट सौंप दी है। निष्कर्ष रिपोर्ट के अनुसार, 8 दिसंबर 2021 को मौसम में अप्रत्याशित ढंग से बदलाव होने के कारण यह हादसा हुआ। बादलों में हेलीकॉप्टर के प्रवेश के बाद मौसम में खराबी होने के कारण पायलट को स्थानिक भटकाव हुआ। कोर्ट ऑफ़ इंक्वायरी में चॉपर के दुर्घटनाग्रस्त होने कारणों में यांत्रिक विफलता ,तोड़फोड़ और लापरवाही को नकारा गया है।

ये भी पढ़ें,इस वजह से क्रैश हुआ था सीडीएस बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर, वायु सेना ने सौंपी रिपोर्ट

मामले की जांच कर रही टीम ने हादसे के सभी संभावित कारणों का पता लगाने लिए उपलब्ध गवाहों से पूछताछ की है। इसके अलावा फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर के डाटा का भी विश्लेषण किया गया। COI ने दुर्घटना के कारणों के रूप में किसी भी तकनीकी विफलता , तोड़फोड़ या लापरवाही को ख़ारिज कर दिया है। जांच दल की प्रारंभिक निष्कर्ष रिपोर्ट के अनुसार, यह हादसा घाटी में मौसम में अप्रत्याशित बदलाव होने के कारण हुआ है। परिणामस्वरूप टेक ऑफ़ होने के बाद पायलट अपने तयशुदा हवाईमार्ग से भटक गया। इस हादसे की जांच के लिए कुछ निष्कर्षों की समीक्षा की जा रही है।

Comments

Translate »