जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी,दो आतंकी ढेर और भारी मात्रा में हथियार बरामद

उरी ऑपरेशन में भारतीय सेना 7 ऐके 47 दो पिस्तौल और रिवाल्वर 80 ग्रेनेड और भारत और पाकिस्तान की मुद्रा बरामद की है। सेना ने घुसपैठ कर रहे दो आतंकवादियों को मार गिराया है। ये जानकारी मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स, जीओसी 19 इन्फेंट्री डिवीजन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दी है।

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सेना द्वारा चलाए गए ओप्रशन में 7 ऐके सीरीज के हथियार,9 पिस्टल और रिवॉल्वर और 80 से अधिक ग्रेनेड और भारतीय और पाक मुद्रा बरामद की गई है। ये सब 18 सितंबर को उरी सेक्टर में चलाए गए ऑपरेशन के दौरान मिला।

पाक सेना की मिलीभगत

इतनी बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही दूसरी तरफ तैनात पाक सेना की मिलीभगत के बिना नहीं हो सकती। एलओसी के पार लॉन्च पैड्स पर हलचल हुई है। पिछले 7 दिनों में 7 आतंकवादी मारे गए, 1 आतंकवादी पकड़ा गया: भारतीय सेना

घुसपैठ की यह कोशिश सलामाबाद नाला के इलाके में की गई थी, उसी इलाके से जहां से 2016 में घुसपैठ का इतिहास रहा है। इस घुसपैठ समूह को पाक की तरफ से 3 कुलियों ने समर्थन दिया था, जो आपूर्ति के साथ एलओसी तक आए थे।: सेना

25 सितंबर को एक मुठभेड़ हुई, जिसमें एक आतंकवादी को मार गिराया गया। दूसरा पकड़ा गया। हिरासत में आत्मसमर्पण करने वाले आतंकवादी ने खुद को पाकिस्तान के पंजाब के अली बाबर पात्रा के रूप में बताया। उसने स्वीकार किया है कि वह लश्कर का सदस्य है और मुजफ्फराबाद में उनके द्वारा प्रशिक्षित किया गया था: भारतीय सेना

गोलाबारी के बाद पाक की तरफ के 4 आतंकी घने पत्तों का फायदा उठाकर पाक की तरफ भाग गए। 2 आतंकवादी भारत की तरफ घुस गए। भारत में घुसपैठ करने वाले 2 आतंकवादियों को घेरने के लिए अतिरिक्त बल जुटाए गए: मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स, जीओसी, 19 इन्फैंट्री डिवीजन

उरी सेक्टर में एलओसी पर 9 दिनों तक एक ऑपरेशन चलाया गया। यह 18 सितंबर को शुरू हुआ, जब एलओसी पर हमारे गश्ती दल ने घुसपैठ की गतिविधि का पता लगाया। जब मुठभेड़ हुई, तो 2 घुसपैठिए सीमा पार आए, जबकि 4 दूसरी तरफ थे: जीओसी, 19 इन्फैंट्री डिवीजन, उरी।

Comments

Translate »