IAS अधिकारी रानी नागर ने आत्मसुरक्षा का हवाला देते हुए पद से दिया इस्तीफा

हरियाणा 2014 कैडर बैच आईएएस अधिकारी रानी नागर ने सोमवार के दिन अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपने इस्तीफे का कारण व्यक्तिगत सुरक्षा बताया है। जिसकी जानकारी उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिए दी है।

आईएएस अधिकारी ने दिया इस्तीफा

रानी नागर ने इससे पहले घोषणा की थी कि कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन के बाद वह इस्तीफा दे देंगी। अपने इस्तीफे की बात उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिए दी थी।

लिखी फेसबुक पोस्ट

अपनी फेसबुक पोस्ट में रानी नागर ने लिखा ,” मैं रानी नागर पुत्री श्री रतन सिंह नागर निवासी ग़ाज़ियाबाद गाँव बादलपुर तहसील दादरी ज़िला गौतमबुद्धनगर आप सभी को सूचित करना चाहती हूँ कि मैंने आज दिनाँक 04 मई 2020 को आई. ए. एस. के पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। मैं व मेरी बहन रीमा नागर माननीय सरकार से अनुमति लेकर चंडीगढ से अपने पैतृक शहर ग़ाज़ियाबाद वापस जा रहे हैं। हम आपके आशीर्वाद व साथ के आभारी रहेंगे। ”

आईएएस नागर ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के नियमों का हवाला देते हुए इस्तीफा स्वीकार करने का आग्रह किया है। उन्होंने अपना इस्तीफा ईमेल के जरिए मुख्य सचिव हरियाणा को भेजा है। इसकी प्रति राष्ट्रपति ,प्रधानमंत्री , मुख्यमंत्री और संबंधित विभागों के प्रधान सचिवों और निदेशकों को भेजी है।

कोर्ट में लगा चुकी गुहार

आपको बता दें ,रानी नागर ने साल 2019 में हरियाणा सरकार के एक अधिकारी और चंडीगढ़ पुलिस के कुछ अधिकारीयों के खिलाफ चंडीगढ़ अदालत में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें उन्होंने अपनी जान के खतरे की आशंका जताई थी।

यौन उत्पीड़न का आरोप

इससे पहले उन्होंने साल 2018 में हरियाणा सरकार के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप  लगाया था। जिसका जिक्र उन्होंने अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में किया था।

Comments

Translate »