क्या दिवालिया होने वाली है रिलायंस कम्युनिकेशन्स ? चेयरमैन अनिल अंबानी ने डायरेक्टर पद से दिया इस्तीफ़ा।

रिलायंस कम्युनिकेशन के आधिकारिक बयान के अनुसार , कंपनी के चेयरमैन अनिल अंबानी ने निदेशक पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। उनके साथ 15 नवंबर को छाया विरानी और मंजरी काकर ने भी इस पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। इससे पहले 13 और 14 नवंबर को सुरेश रंगचर और रायना करानी ने भी निदेशक पद से इस्तीफ़ा था।

बड़े भाई मुकेश अंबानी के साथ संपत्ति बँटवारे में आर कॉम कंपनी अनिल अंबानी के हिस्से में आई थी।स्वीडन की दूरसंचार उपकरण कंपनी एरिक्सन के आवेदन के बाद कंपनी फ़िलहाल दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रही है। राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण ने कंपनी का नियंत्रण दिवाला समाधान पेशेवर को सौंप दिया है। सूत्रों के अनुसार आर कॉम कंपनी का कुल संरक्षित कर्ज 33000 करोड़ रुपए है। वही ऋणदाताओं ने आर कॉम में 49000 करोड़ रुपए का दावा किया है। आर कॉम ने अपनी संपत्तियों को बिक्री के लिए रखा है। जिसमें 122 ‘मेगाहर्ट्ज’ स्पेक्ट्रम भी है। जिसका मूल्य दिवाला प्रक्रिया शुरू होने से पहले 14000 करोड़ रुपए था।

इसी तरह कंपनी के टॉवर कारोबार का मूल 7000 करोड़ रुपए है। ‘ओएफसी’ नेटवर्क 3000 करोड़ और डाटा केंद्रों का मूल्य 4000 करोड़ रुपए है। आर कॉम कंपनी के ऋणदाताओं की समिति संपत्तियों की ‘बोलियां’24 नवंबर को खोलेगी।

आपको बता दें , कभी अंबानी दुनिया के 10 शीर्ष अमीरों में से एक थे लेकिन आज उनको अपनी कंपनी के बकाया को चुकाने के लिए संपत्तियों को बेचना पड़ रहा है। कंपनी को इस साल की पहली तिमाही में 1141 करोड़ रुपए का मुनाफ़ा हुआ था। आर कॉम की कुल देनदारियां 23327 करोड़ रुपए और लाइसेंस शुल्क 4987 करोड़ रुपए बकाया है।

Comments

Translate »