केरल के कोडकरा ब्लैक मनी मामले में बीजेपी नेताओं से पूछताछ जारी,सीएम विजयन ने दी यह जानकारी

भारतीय जनता पार्टी ने उसके नेताओं को बदनाम करने की साजिश बताया है। बीजेपी ने कोडकरा डकैती मामले में सीपीआईएम का हाथ होने की बात में अपने प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन का समर्थन किया है। मामले में 20 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

सीएम विजयन ने दी यह जानकारी

केरल के सीएम पीनारायी विजयन ने सोमवार के दिन कहा कि कोडकरा काला धन मामले में 20 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इस मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से पूछताछ की है। मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर कांग्रेसी विधायक शफी परमबील द्वारा स्थगन के नोटिस के जवाब में सदन को बताया कि कोडकरा मामले की जांच के हिस्से के रूप में 96 गवाहों का बयान रिकॉर्ड किया जा चुका है और फिलहाल 20 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। उन पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि लूट गए 3.5 करोड रुपए में से 1.12 करोड़ रूपये और 345 ग्राम सोने के आभूषण , मोबाइल और घड़ी खरीदने के लिए इस्तेमाल किए गए थे। फिलहाल पुलिस ने इस सामान को जब्त कर लिया है और मामले की जांच में जुटी है।

7 अप्रैल को हुई थी डकैती

ब्लैक मनी मामले की जानकारी देते हुए के विजयन ने कहा कि सबसे पहले कोडकरा थाने में 7 अप्रैल को डकैती की एक रपट दर्ज की गई। उसमें बताया गया है कि 3 अप्रैल को कोझिकोड कोची हाईवे पर बदमाशों ने 2500000 रुपए लूट लिए हैं। बाद में जब इस केस की जांच की गई तो पता चला कि लूटी गई राशि 2500000 नहीं बल्कि 3.5 करोड़ की है।

राजनीतिक दलों ने आरोप लगाया है कि बीजेपी इस पैसे का इस्तेमाल चुनाव खर्च में करने वाली थी। सीएम ने कहा कि बाद में राज्य पुलिस प्रमुख के आदेश के बाद मामले की जांच के लिए त्रिशूर रेंज के डीआईजी और अर्नाकुलम क्राइम ब्रांच के सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस की देखरेख में एक विशेष जांच दल का गठन किया गया। उन्होंने कहा पलक्कड़ से पुलिस उपाधीक्षक को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है और जांच अच्छी तरह से जारी है।

दूसरी तरफ केरल की बीजेपी की कोर कमेटी टीम ने उसके नेताओं को बदनाम करने का आरोप लगाया है। बीजेपी ने कोडकरा डकैती में सीपीआईएम का हाथ होने की बात में अपने प्रदेश अध्यक्ष सुरेंद्रन का समर्थन किया है ।

Comments

Translate »