माधुरी कानितकर बनी भारतीय सेना की तीसरी महिला लेफ्टिनेंट जनरल

भारतीय सेना में महिलाओं को कमांड पोस्ट देने के सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद 29 फरवरी को मेजर जनरल माधुरी कानितकर को लेफ्टिनेंट जनरल रैंक का प्रमोशन दिया गया है।

नेवल सर्जन भारतीय नौसेना की पूर्व थ्री स्टार फ्लैग अफसर एडमिरल डॉ पुनिता अरोड़ा पहली महिला अफसर हैं जो लेफ्टिनेंट जनरल के पद पर तैनात हुई हैं। माधुरी कानितकर लेफ्टिनेंट जनरल बनने वाली इंडियन आर्म्ड फाॅर्स की तीसरी महिला अधिकारी हैं। माधुरी कानितकर को आर्मी हेडक्वार्टर के इंटीग्रेटिड डिफेंस स्टाफ में तैनात किया गया है। ये विभाग चीफ ऑफ़ डिफेंस स्टाफ के अधीन आता है।

लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानितकर आर्मी मेडिकल कोर कॉलेज पुणे की पूर्व डीन रह चुकी हैं। माधुरी कानितकर और उनके पति राजीव पहले दंपति हैं जिन्होंने भारतीय सेना में यह रैंक हासिल किया है।

आपको बता दें, डॉ पुनिता अरोड़ा पहली महिला अफसर हैं जो लेफ्टिनेंट जनरल के पद पर तैनात हुई हैं। दूसरी इंडियन एयरफोर्स की एयर मार्शल पद्मावती बंदोपाध्याय लेफ्टिनेंट जनरल का रैंक हासिल करने वाली दूसरी महिला अफसर हैं। माधुरी कानितकर को लेफ्टिनेंट जनरल रैंक का प्रमोशन पाने वाली तीसरी महिला हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानितकर सीडीएस में तैनात होंगी। जिनकी जिम्मेदारी संयुक्त योजना और एकीकरण के माध्यम से प्रशिक्षण, ख़रीद और संचालन में अधिक तालमेल के लिए आबंटित बजट के उचित उपयोग को सुनिश्चित करना है।

Comments

Translate »