युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

टीम इंडिया के धमाकेदार बल्लेबाज युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। संन्यास की घोषणा करते समय युवराज सिंह ने कहा,अब आगे बढ़ने का समय आ गया है।

विश्व कप 2011 में भारत की जीत के लिए अहम भूमिका निभाने वाले युवराज सिंह ने क्रिकेट संन्यास घोषणा कर दी है। युवराज सिंह को टीम इंडिया सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है। युवी ने भारत के लिए 40 टेस्ट मैच ,304 वनडे और 58 टी-२० अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है। टीम इंडिया को वर्ल्ड कप 2011 में चैंपियन बनाने में युवराज सिंह का बहुत बड़ा योगदान रहा है। युवराज सिंह ने 2011 में गेंद और बल्ले का जबरदस्त इस्तेमाल करते हुए टीम इंडिया को वर्ल्ड कप दिलाया था। इस वर्ल्ड कप में उनको सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित किया गया था।

2011 के वर्ल्ड कप के बाद कैंसर की बीमारी को हराते हुए उन्होंने टीम इंडिया में जबरदस्त वापसी कर सबको चौंका दिया था। युवराज सिंह को भारतीय टीम मनोरंजक खिलाड़ी माना जाता है। 25 साल 22 गज की जमीन पर अपनी धाक जमवाने वाले खिलाड़ी ने आज क्रिकेट को अलविदा कह दिया है।

युवराज सिंह का जन्म 12 दिसंबर 1981 को चंडीगढ़ में हुआ था। युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह भी भारतीय टीम के खिलाड़ी रह चुके हैं। युवराज सिंह 2007 टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 में क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे हैं। इन दोनों टूर्नामेंट में उन्होंने जबरा प्रदर्शन किया। उन्होंने हिंदी फिल्मों की अभिनेत्री ‘हेजल’ से 2016 में शादी की।

Comments

Translate »