प्रवासी मजदूरों की घर वापसी करवाने वाले अभिनेता सोनू सूद को मिला सबसे बड़ा अवॉर्ड

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद कोरोना वायरस महामारी के दौरान लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों की अपने खर्च पर घर वापसी करवा रहे हैं। जिसके लिए उनको दुनिया का सबसे बड़ा अवॉर्ड मिला है। इस बात की जानकारी एक्टर ने खुद एक ट्वीट कर दी।

कोरोना वायरस महामारी का कहर पुरे देश में जारी है। कोविड 19 के कारण हुए लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर मजदूरों और गरीब वर्ग पर पड़ रहा है। ऐसे हालात में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद मजदूरों की मदद कर रहे हैं। सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को बसों द्वारा उनके घर भेज रहे हैं। उनके इस नेक काम की चारों तरफ खूब तारीफ हो रही है।

सोनू सूद ने मजदूरों की मदद के लिए नंबर जारी किए हैं। जिन पर कॉल या व्हाट्सएप संदेश मिलने के बाद अभिनेता और उनकी टीम लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की डिटेल लेकर उन्हे घर भेज रही है। पुरे देश में सोनू सूद अकेले ऐसे शख्स हैं जो इस तरह से मजदूरों की मदद कर रहे हैं। वो भी बिना किसी लालच ख्याति प्राप्त करने के।

जैसा की हम बात कर रहे थे सोनू सूद को मिलने वाले सबसे बड़े अवॉर्ड की। जी हां ,उनको कोई आइफा या फिल्म फेयर पुरस्कार नहीं मिला है बल्कि उससे भी बड़ा पुरस्कार मिला है।

https://twitter.com/SonuSood/status/1266091838890373120

दरअसल ,सोनू सूद ने मुंबई में लॉकडाउन में फंसी हुई एक गर्भवती महिला को बिहार के दरभंगा भेजा था। घर पहुंचकर महिला ने बच्चे को जन्म दिया। सोनू सूद की मदद से घर पहुंची महिला ने अपने नवजात बच्चे का नाम सोनू सूद रखा है। जिसको एक्टर सोनू सूद ने अपने लिए सबसे बड़ा अवॉर्ड करार दिया है।

Comments

Translate »