फर्जी लोन कंपनी ने रिश्तेदार का लोन चुकाने के लिए नेल्लोर विधायक अनिल कुमार को किए 79 बार फोन कॉल,4 गिरफ्तार

भारत में फर्जी लोन Apps और कंपनियों का नेटवर्क बहुत तेजी से बढ़ रहा है। हर रोज लोन के नाम ठगी और फ्रॉड के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिला से सामने आया है। जहां एक फर्जी लोन कंपनी का भंडाफोड़ हुआ है।

नेल्लोर विधायक को आए फोन

दरअसल, अशोक कुमार के एक शख्स ने पूर्व मंत्री और नेल्लोर शहर से विधायक अनिल कुमार को रिश्तेदार का 8 लाख का लोन चुकाने के लिए 79 बार अलग-अलग मोबाइल नंबरों से कॉल किया।

चार लोग अरेस्ट

फर्जी लोन कंपनी के बार बार फोन करने से परेशान विधायक ने इस मामले की शिकायत जिला पुलिस अधीक्षक को की। शिकायत मिलने के बाद तुरंत हरकत में आई पुलिस ने मामले की तह तक पहुँचने के लिए जांच शुरू की। एसपी सी विजया राव को एक लोन एजेंसी का पता चला, जिसने विधायक को लोन रिकवरी के लिए फोन किए थे। पुलिस अधीक्षक ने पीटीआई को बताया कि चेन्नई के कोलमैन नाम की एक लोन एजेंसी से विधायक को फोन आए थे।

पुलिस अधिकारी ने बताया ,” हमने तुरंत एक पुलिस टीम भेजी और चार लोगों को अरेस्ट किया। ये लोग अलग-अलग सिम कार्ड से बार बार प्रमुख व्यक्तियों को फोन कर रहे थे। आरोपियों को हिरासत में लेकर मामले की जांच की जा रही है। ”

अनिल कुमार का ब्यान

वहीँ, नेल्लोर विधायक अनिल कुमार ने बताया ,” मैं एक कार्यक्रम में था। इसलिए मेरे निजी सचिव ने फोन कॉल रिसीव किए। उसे लोन के बारे में बताया गया था। मेरे सचिव ने उनको बताया कि मैं उस व्यक्ति को नहीं जानता जिसने लोन लिया है। फिर भी लोन एजेंसी अलग-अलग नंबरों से कॉल करती रही। उन्होंने 79 बार फोन कॉल किए।

बता दें, नेल्लोर से वर्तमान में विधायक अनिल कुमार जगन मोहन रेड्डी सरकार में जल संसाधन मंत्री रह चुके हैं। एमएलए अनिल कुमार के अलावा कृषि मंत्री काकानी गोवर्धन रेड्डी को भी इसी तरह के फोन कॉल आए थे।

Comments

Translate »