पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी पर लगाया पेंशन रोकने का आरोप: वीडियो

2
Former IAS officer Surya Pratap Singh accused CM Yogi Adityanath of discontinuing pension
पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी पर लगाया पेंशन रोकने का आरोप

अपनी ईमानदारी के कारण 25 साल की सर्विस में 54 बार ट्रांसफर हो चुके पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने एक वीडियो जारी कर सीएम योगी आदित्यनाथ पर पेंशन रोकने का आरोप लगाया है।

आईएएस अधिकारी रह चुके सूर्य प्रताप सिंह ने अपने ट्विटर एकाउंट पर एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर पेंशन रोकने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह ने वीडियो में क्या कहा ?

ट्विटर पर शेयर किए गए वीडियो में पूर्व आईएएस अधिकारी ने कहा ,” मैं सेवानिवृत आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह बोल रहा हूं। आज मैं ये पूछना चाहता हूं इस देश के कर्णधारों से ,सीएम योगी जी से, पीएम मोदी से ये पूछना चाहता हूं कि कोई सवाल पूछना नीतियों का विरोध करना देश द्रोह है क्या ?

आप ने मेरी पेंशन रोक दी कोई बात नहीं। लेकिंन ऐसे ही तमाम पेंशनधारक जो रिटायर्ड सैनिक होंगे ,शिक्षक होंगे इंजीनियर होंगे , तमाम सिविल सेवा के कर्मचारी अधिकारी होंगे। क्या उनका हक नहीं है कि वो सरकार से सवाल पूछें ?क्या सवाल पूछना देश द्रोह हो गया ?

क्या आज दौर में पूरी भाजपा या सत्तापक्ष से सवाल पूछना देश द्रोह है ? जब मेरे साथ यह हो रहा कि आप ने पिछले 5 महीने से मेरी पेंशन बिना किसी दोष के रोक दी। जब मैंने आवाज उठाई तो पेंशन को जारी कर दिया। अगर मैं दोषी था तो जारी क्यों किया मेरी पेंशन को ? इसलिए रोकी गई ताकि मेरी आवाज बंद हो जाए ? मुझे डरा दिया जाए ? न डरने पर मेरे खिलाफ FIR दर्ज करा दी।

मैं तो एक रिटायर आईएएस अधिकारी हूं। प्रमुख सचिव रहा हूं ,अगर मेरे साथ ये हो रहा है तो सामान्य सेवानिवृत अधिकारियों कर्मचारियों ,सैनिकों और शिक्षकों के साथ क्या हो रहा होगा ? कितनों की पेंशन रुकी होगी ? खाली मेरी नहीं ?

आपको स्वयं सोचना चाहिए जो आप पंडित दीनदयाल का मानवता का संदेश है ,उसका पालन कर रहे हैं ?अटल बिहारी बाजपेयी जी ने कहा था ,संसद में कि निंदक नेड़े राखिये ,क्या उनका पालन आप कर रहे हैं ? या धौंस,जबरदस्ती करके अपनी बात को मनवाना चाहते हैं ? जो विरोध है उसको कुचलना चाहते हैं ? ये मेरा सवाल है ,सरकार क्यों डराना चाहती मेरे जैसे लोगों को ?

पूर्व आईएएस ने ट्वीट कर सीएम योगी से पूछे सवाल

पूर्व अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह अपने दूसरे ट्वीट में लिखा ,” सोचा था खुद तक रखूंगा ,पर आज बताना जरूरी है। सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने पर पांच महीने ( जनवरी-मई ) तक ,मेरा हक ,मेरी पेंशन रोकी गई। जब मैंने आवाज मुखर की तो पेंशन रिलीज कर दी गई। यूपी सरकार जवाब दे, अगर मैं दोषी नहीं था तो पेंशन क्यों रोकी ?और दोषी था तो रिलीज क्यों की ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here