NEET मेडिकल प्रवेश परीक्षा से पहले छात्राओं को इनरवियर उतारने के लिए किया गया मजबूर, मामला संसद तक पहुंचा

कोल्लम में आयोजित NEET परीक्षा के दौरान परीक्षा हॉल में प्रवेश करने से पहले छात्राओं को उनके अधोवस्त्र उतारने के लिए मजबूर किया गया। लड़की के पिता ने इस मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। यह केस संसद के मानसून सत्र में भी पहुंच गया है।

धातुई हुक से बीप साउंड आई

केरल के कोल्लम में NEET Medical Entrance Exam देने गई एक छात्रा को कथित तौर पर Bra उतारने के लिए मजबूर किया गया। दरअसल, सुरक्षा जांच के दौरान मेटल डिक्टेक्टर से लड़की ब्रा में लगे धातुई हुक से बीप साउंड आई थी। छात्रा के पिता की तरफ से पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने के बाद यह मामला सामने आया है।  कोल्लम जिला के नीट परीक्षा केंद्र में महिला सुरक्षाकर्मियों ने इस छात्रा को metal hook के कारण अधोवस्त्र हटाने के लिए कहा।

छात्रा ने अपनी मां की शाल से खुद को कवर करते हुए ब्रा को निकाल कर अपनी मां को दे दिया। जिसके बाद उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति मिली।

लोकसभा में पहुंचा मुद्दा

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, आरएसपी सांसद एनके प्रेमचंद्रन ने लोकसभा में कल कोल्लम में हुई नीट परीक्षा के दौरान हॉल में प्रवेश करने से पहले छात्राओं को इनरवियर हटाने के लिए मजबूर करने की घटना को लेकर स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।

संस्थान ने झाड़ा पल्ला

दूसरी तरफ, Marthoma Institute Of Information and Technology ने इस केस में किसी भी तरह की जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया है। इसी बीच कोल्लम पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि लड़की के माता पिता की तरफ से इस मामले में शिकयत दर्ज कराई गई है।

90 फीसदी के इनरवियर उतरवाए

अपनी शिकायत में छात्रा के पिता ने कहा कि सिक्योरिटी जांच के बाद मेरी बेटी से कहा गया कि मेटल डिक्टेक्टर से ब्रा के हुक का पता चला है। इसलिए उसको इनरवियर हटाने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा कि नब्बे फीसदी से ज्यादा छात्राओं को अपने इनरवियर निकालकर स्टोररूम में रखने पड़े।

Comments

Translate »