हरियाणा के करनाल में खालिस्तान समर्थित स्लोगन लगाने वाले मंजीत को पुलिस ने किया गिरफ्तार

हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को एक व्यक्ति को पिछले महीने करनाल में एक दीवार पर खालिस्तानी समर्थक नारे लिखने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान पटियाला निवासी मनजीत के रूप में हुई है। अदालत ने उन्हें 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। करनाल के एसपी गंगा राम पुनिया ने कहा कि आरोपी को इस काम के लिए अमेरिका के एक व्यक्ति ने 1000 डॉलर दिए थे। जिसकी जांच चल रही है।

करनाल पुलिस ने दी जानकारी

करनाल के एसपी गंगा राम पुनिया ने कहा, “20 जून को, दो शिक्षण संस्थानों की दीवारों पर नारे लिखे हुए पाए गए। हमने मामले की जांच शुरू की और पंजाब के पटियाला निवासी मंजीत के रूप में पहचाने गए एक आरोपी को गिरफ्तार किया।”

आरोपी को अदालत में पेश किया गया, जिसने उसे 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। पूछताछ के दौरान, यह पता चला कि आरोपी एक यूएस-आधारित व्यक्ति के संपर्क में था, जिसने इस काम को करने के लिए 1,000 डॉलर का भुगतान करने का वादा किया था। आगे की जांच जारी है।

दूसरे राज्यों में सक्रिय है खालिस्तान समर्थक

विशेष रूप से, 20 जून को करनाल में डीएवी स्कूल और दयाल सिंह कॉलेज के सामने एक दीवार पर खालिस्तान समर्थक नारे लिखे पाए गए थे। ऐसे कई उदाहरणों में, जालंधर शक्ति पीठ, देवी तालाब मंदिर के पास दीवारों पर खालिस्तान समर्थक नारे लिखे पाए गए थे। पिछले महीने पंजाब के जालंधर और पंजाब के फरीदकोट में एक सत्र न्यायाधीश के आवास की दीवारों पर भी नारे लिखे गए थे। मई महीने में हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में राज्य विधानसभा की दीवारों और गेट पर खालिस्तानी झंडे बंधे पाए गए और नारे लिखे गए थे ।

ऑपरेशन ब्लूस्टार

इतना ही नहीं ऑपरेशन ब्लूस्टार की 38वीं बरसी पर स्वर्ण मंदिर में खालिस्तान समर्थक नारे भी लगे। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कट्टरपंथी सिख संगठनों और शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के समर्थकों ने लोगों को खड़े होकर खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए थे।

Comments

Translate »