मैं डंके की चोट पर कहने आया हूं,जिनको विरोध करना है वो करें CAA कभी वापस नहीं होने वाला: अमित शाह

नागरिकता संशोधन कानून पर अमित शाह ने सुनाया अंतिम फैसला

गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून पर लखनऊ में एक समर्थन रैली को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्षी दल कांव-कांव कर रहे हैं। मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि ये कानून कभी वापस नहीं होगा।

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन हुई एक रैली में कहा,” इस बिल को लेकर कांग्रेस,टीएमसी ,मायावती, समाजवादी पार्टी और कम्युनिस्ट कांव कांव चिल्ला रहे हैं। मैंने इस बिल को संसद में पेश किया। मैं चुनौती देता हूं कि इस भी धारा में अगर किसी भी शख्स की नागरिकता छीन ने की बात है तो दिखाएं।” पाकिस्तान से आई नीता सोढा राजस्थान में लड़ेंगी पंचायत चुनाव

उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हो रहा है। अफगानिस्तान में बुद्ध की मूर्तियां तोड़ी गई।जब विभाजन हुआ था तो पूर्वी पाकिस्तान यानी आज के बांग्लादेश में 30 फ़ीसदी और पाकिस्तान में 23 फ़ीसदी अल्पसंख्यक थे। लेकिन आज वह कहां गए ? इन आँख के अंधों और कान के बहरों को ना तो कुछ दिखाई देता है और सुनाई। यहां जानिए,कैसे मिलती है भारत की नागरिकता और कौन होते हैं नागरिक

गृहमंत्री अमित शाह ने आगे कहा ,” मैं मानव अधिकार लोगों से पूछना चाहता हूं कि उस समय कहां चले गए थे जब कश्मीर से पंडितों को भगा दिया गया था। 70 सालों से पीड़ित लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है। सिख, हिंदू और बौद्ध लोगों को नागरिकता दी गई है। जिनको विरोध करना है वो करें, मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि नागरिकता संशोधन कानून कभी वापस नहीं होने वाला है। ” सुनील गावस्कर ने देश के मौजूदा हालात पर युवाओं को दी नसीहत

Comments

Translate »