महेंद्र सिंह धोनी के बलिदान बैज पर आईसीसी ने लगाई रोक

आईसीसी ने बीसीसीआई से कहा कि महेंद्र सिंह धोनी ने नियमों का उलंघन किया है। वह दस्तानों पर कोई निजी संदेश नहीं लिख सकते।

दक्षिण अफ्रीका के साथ मैच में धोनी को जिसने भी बलिदान बैज वाले दस्तानों के साथ देखा उसने खूब तारीफ की। लेकिन आईसीसी (ICC )को ये जरा भी पसंद नहीं आया। आईसीसी ने इसकी शिकायत बीसीसीआई से की है। अब आईसीसी के सख्त रुख के बाद बीसीसीआई अपना रुख बदल सकता है। इस मामले को बढ़ता देखकर धोनी से दस्तानें बदलने के लिए कहा जा सकता है।

अब सवाल ये है कि क्या महेंद्र सिंह धोनी को ऑस्ट्रेलिया के साथ अगले मैच में इन ग्लव्स का बलिदान देना पड़ेगा ? आईसीसी के रुख से ऐसा ही लग रहा है। आज सुबह बीसीसीआई (BCCI ) ने आईसीसी से मांग की थी कि धोनी को बलिदान बैज वाले दस्ताने पहनकर खेलने दिया जाए। लेकिन आईसीसी ने अपना रुख साफ करते हुए कहा कि धोनी इन ग्लव्स के साथ नहीं खेल सकता।

आईसीसी ने बीसीसीआई से कह दिया है कि महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni ) दोबारा ये ग्लव्स (Gloves )पहन कर मैदान में न उतरे। इसके पीछे आईसीसी ने जी-1 नियम का हवाला दिया है। इस नियम के तहत कोई भी खिलाड़ी मैदान में अपनी ड्रेस पर कोई भी निशान इस्तेमाल नहीं कर सकता,जिससे कोई धार्मिक राजनीतिक या नस्लीय संदेश उजागर हो। या फिर किसी की भावना को ठेस पहुंचे।

बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के साथ खेले गए मैच में 37 वर्षीय महेंद्र सिंह धोनी को खास चिन्ह वाले ग्लव्स के साथ विकेटकीपिंग करते हुए देखा गया था। इसके बाद उनकी तसवीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई

Comments

Translate »