भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसियों ने ISIS के ऑपरेशन ग्रीन बर्ड को किया डिकोड,बचाई अनगिनत बेगुनाहों की जान

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने दुनिया के सबसे बदनाम आतंकी संगठन ISIS की बड़ी साजिश का पर्दाफाश किया है। अगर ये संगठन अपने मकसद में कामयाब हो जाता तो भारत में बड़ी तब मच सकती थी।

भारत शुरू से ही आतंकवादियों के निशाने पर रहा है। लेकिन इस बार दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस साजिश का खुलासा हुआ है।अगर आईएसआईएस अपने इस मकसद में कामयाब हो जाती तो हिंदुस्तान में 1993 के बम धमाकों से भी बड़ा हादसा हो सकता था।

भारत पर आतंक का परिंदा मंडरा रहा है। देश की राजधानी दिल्ली सहित देश के कई बड़े शहरों पर ये खतरा मंडरा रहा है।आतंकी संगठन आईएसआईएस ने एक बड़ी साजिश रची थी।जिसका खुलासा टेलीग्राम एप्प पर बने एक ग्रुप से हुआ। स्वतंत्रता दिवस के ठीक पहले इस साजिश का खुलासा हुआ है। आईएसआईएस ने टेलीग्राम पर हिंदुस्तान में तबाही मचाने के लिए पांच ग्रुप बनाये थे।जिनमें सबसे खतरनाक ग्रुप ऑपरेशन ग्रीन बर्ड है।

ऑपरेशन ग्रीन बर्ड को भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने समय रहते हुए डी-कोड कर देश में बड़ी तबाही होने बचा लिया है। इस कोड के अनुसार ,ग्रीन का मतलब है भारत के तीन शहरों, भोपाल, दिल्ली और त्रिवेन्द्रम था। जबकि B1RDS जिसमें आई कि जगह1 लिखा था और B1 का मतलब रेल का कोच नंबर B1,R का मतलब है राजधानी एक्सप्रेस जबकि DS का मतलब था दिल्ली साउथ।

सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से मिली रिपोर्ट के अनुसार, आईएसआईएस आतंकी संगठन 13 अगस्त को साउथ दिल्ली के किसी रेलवे स्टेशन या फिर हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से गुजरने वाली किसी ट्रेन या राजधानी एक्सप्रेस B1 कोच में धमाका करने वाले थे। इसके लिए उन्हें IED बनाने से लेकर मोबाइल फोन से बम विस्फोट करने की पूरी ट्रेनिंग दी जा रही थी। लेकिन इससे पहले ही भारतीय खुफिया एजेंसियों ने आईएसआईएस के ग्रीन बर्ड की गर्दन मरोड़ दी और अनगिनत बेगुनाहों को बेमौत मरने से बचा लिया।

Comments

Translate »