विंग कमांडर अभिनंदन ऐसे पाकिस्तान से लौटे भारत

पाकिस्तान से रिहा हुए भारतीय पायलट अभिनंदन

भारतीय पायलट अभिनंदन पाकिस्तान से रिहा होकर हमवतन पहुंचे। मार गिराया पाकिस्तान के 2 एफ-16 विमानों को।वागा बॉर्डर के रास्ते पहुंचे स्वदेश।

शुक्रवार को रात 9 बजकर 20 मिनट पर अभिनंदन ने भारीय सीमा में किया प्रवेश। उसके बाद उन्हें अमृतसर हवाई अड्डे से विमान द्वारा दिल्ली पालम एयरपोर्ट पर लाया गया। यहां रिसर्च एंड रेफरल (RR ) अस्पताल में उनका मेडिकल होगा। आज शनिवार को उन्हें भारतीय वायुसेना के स्टैंडिंग ऑपरेशनल प्रोसीजर(SOP) से गुजरना होगा।जिसमें उनसे पूछताछ होगी।

अभिनंदन की गिरफ्तारी के एक दिन बाद ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी संसद में पायलट अभिनंदन की रिहाई का ऐलान कर दिया था।

कल शुक्रवार को जब पाकिस्तान उच्च आयोग की तरफ से ये खबर आई थी कि उन्हें (अभिनंदन को ) वागा बॉर्डर के जरिए भारत पहुंचाया जाएगा। ख़बर सुनते ही बॉर्डर पर भारत से अपने हीरो अभिनंदन को देखने के लिए भीड़ लग गई। वागा बॉर्डर पर उनकी एक झलक देखने के लिए भीड़ बढ़ती चली गई। लेकिन इंन्तजार भी बढ़ता चला गया

पहले सुचना मिली थी कि अभिनंदन को शुक्रवार दोपहर बाद रिहा किया जाएगा।फिर सुचना मिली कि उन्हें शाम के 6 बजे ‘बीटिंग रीट्रीट’ के समय भारत को सौंपा जाएगा। लेकिन वक़्त बढ़ता गया और अपने हीरो की झलक पाने वालों का भी हौंसला बढ़ता गया। देश भर में अभिनंदन के भारत आने की ख़ुशी में कहीं गरबा तो कहीं भांगड़ा का आयोजन किया गया। लोगों ने अपने पायलट हीरो के घर वापिस आने की ख़ुशी में लड्डू बांटे और पटाखे चलाए।

शुक्रवार शाम को 9 बजकर 18 मिनट पर वागा बॉर्डर पर पाकिस्तान की तरफ से गाड़ियों की हलचल तेज हुई। जिनमें देश का नायक अभिनंदन भी था।देर शाम 9 बजकर 20 मिनट पर भारत का नायक वापिस वतन की मिट्टी को छू पाया।

शुक्रवार रात को ही अभिनंदन को देश की राजधानी दिल्ली लाया गया। दिल्ली हवाई अड्डे पर भी लोगों ने अभिनंदन का जोरदार स्वागत किया। हवाई अड्डे के बाद विंग कमामंडर अभिनंदन को शारीरिक जांच के लिए सेना अस्पताल आरआर लाया गया। अभिनंदन को 27 फरवरी को भारत पाकिस्तान के बीच हुए एलओसी पर विमान संघर्ष में पाकिस्तान की सेना ने गिरफ़्तार कर लिया था। गिरफ़्तारी से पहले अभिनंदन ने पाकिस्तान के दो एफ-16 विमानों को मार गिराया था। इसी संघर्ष में उनका विमान मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान हादसा होने के तुरंत बाद अभिनंदन ने पैराशूट जंप कर दिया। जंप के दौरान वह पकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जा गिरे और वहां से उनको पाकिस्तान की सेना ने पकड़ लिया था।

अभिनंदन पाकिस्तान के कब्जे में लगभग 60 घंटे तक रहे। उसके बाद उन्हें भारत-पाक के वागा बॉर्डर के रास्ते से पाकिस्तान से भारत को सौंपा गया। उनके साथ बॉर्डर पर पाकिस्तान की विदेश मंत्रालय की अधिकारी डॉक्टर फ़रीहा बुगती और पाकिस्तान के सेना अधिकारी छोड़ने आए।

Comments

Translate »