भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ओलंपिक में मेडल नहीं जीत पाने पर हुई दुखी,लोगों से की खास अपील

भारतीय महिला हॉकी टीम ने तीसरी बार ओलंपिक खेलों में हिस्सा लिया। लेकिन कांस्य पदक के मुकाबले में ग्रेट ब्रिटेन से हार गई। इस हार का मलाल कप्तान रानी रामपाल ने ट्विटर के जरिए जाहिर किया। जिस पर लोगों ने रानी की ढाढ़स बढ़ाते हुए तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दी।

रहॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने ओलंपिक में खेले गए मुकाबलों की तस्वीरों को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए मेडल नहीं जीत पाने का दर्द बयां किया। रानी रामपल ने ट्विटर पर लिखा ,” हमने बहुत कोशिश की लेकिन जीत को मेडल के रूप में नहीं बदल पाए। हम पदक के इतने करीब होने से दुखी और निराश हैं। लेकिन हम जानते हैं कि हम मजबूत वापसी के साथ अपने देश का दिल जीतेंगे। यहां तक हमारी यात्रा में आपके समर्थन और प्रार्थनाओं के लिए आप सभी का धन्यवाद। ” रानी रामपाल के इस ट्वीट पर लोगों ने उनकी हिम्मत बढ़ाते हुए तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दी हैं।

कप्तान रानी रामपाल का ट्वीट 

एनडीटीवी की पत्रकार रिका रॉय ने रानी रामपाल के ट्वीट पर कमेंट करते हुए लिखा ,” आप लड़कियों ने एक राष्ट्र ,एक पीढ़ी को प्रेरित किया है। यादों के लिए शुक्रिया।  आप सब पर गर्व है। ” मालिनी अवस्थी ने लिखा ,” अपने हमारा दिल जीत लिया। भारत को अपने चैम्पियनों पर गर्व है। ”

रानी के ट्विटर के जवाब में आईएफएस सुरेंद्र मेहरा ने लिखा ,” रानी रामपाल ,आप हमेशा हमारे दिलों में रहेंगे। आपने जो किया वह पहले कभी नहीं हुआ। आपने अपने साथियों के साथ भारतीय हॉकी टीम को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। आप बहादुर हो। ” इस तरह बहुत सारे लोग रानी रामपाल की ट्विटर पर खूब तारीफ कर रहे हैं।

हालांकि ओलंपिक में पदक से चुकने की टीस रानी रामपाल,महिला हॉकी टीम और पुरे देश को लंबे समय तक चुभेगी। महिला टीम द्वारा ओलंपिक में किए गए शानदार प्रदर्शन के बाद भी कोई पदक नहीं मिल पाया इस बात का सभी देशवासियों को दुख है।

Comments

Translate »