कैथल का बिजली विभाग व पुलिस अपनी जिम्मेवारी से न भागे : योगेशवर शर्मा

हाईटैंशन वायर का शिकार हुए  कैथल के दोनों पत्रकारों के परिजनों से मिले आम आदमी पार्टी के नेता

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी के लोकसभा अंबाला एवं जिला पंचकूला के अध्यक्ष योगेश्वर शर्मा ने आज पीजीआई चंडीगढ़ में जाकर कैथल के हाईटैंशन वायर का शिकार हुए दोनों पत्रकारों के परिजनों से मुलाकात की।उन्होंने पीडि़तों के परिजनों को अपनी व पार्टी की ओर से हरसंभव मदद का आश्वाशन दिया।

हाई वोल्टेज तारों की चपेट में आने से 2 पत्रकारों गंभीर रूप से झूलसे, पी.जी.आई. रैफर
चंडीगढ़ पीजीआई में पीड़ितों के परिजनों के साथ योगेश्वर शर्मा

उल्लेखनीय है कि शनिवार को कैथल में दैनिक हरिभूमि समाचारपत्र के दो पत्रकार नरेंद्र जैली व सुशील राठी अपने कार्यालय की छत्त पर से गुजर रही हाईटैंशन वायर की चपेट में आकर बुरी तरह से झुलस गये थे। उन्हें गंभीर हालत में पीजीआई चंडीगढ़ लाया गया था।करनाल रोड पर जाट कॉलेज के सामने से गुजर रही 33 के.वी.  बिजली की तारों की चपेट में आने से एक दैनिक हरिभूमि समाचार पत्र के 2 पत्रकार गंभीर रूप से झूलसे गए। दोनों को सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया। प्राथमिक ईलाज देने के बाद दोनों को पी.जी.आई. चंडीगढ़ रैफर कर दिया है।

जानकारी अनुसार गांव देवबन निवासी जैली व हुडा सैक्टर कैथल निवासी सुनील कुमार अपने शिफ्ट किए गए नए कार्यालय का फ्लैक्स बोर्ड लगा रहे थे। इसी दौरान तेज हवा के कारण फ्लैक्स बोर्ड की लोहे की पाइप हाई वोल्टेज तारों से टकरा गई और दोनों गंभीर रूप से झूलस गए। इस हादसे के साथ ही जोरदार धमाका भी और आग लग गई। दोनों घायलों को तुरंत सिविल अस्पताल में ले जाया गया। चिकित्सकों ने बताया कि दोनों 60 से 70 प्रतिशत तक झूलसे गए हैं।

Kaithal's power department and police do not run away from their responsibility: Yogeshwar Sharma
फोटोः हाईटेंशन तार की चपेट में आए दो पत्रकार

आज ‘आप’ नेता योगेश्वर शर्मा, पंचकूला के संगठन मंत्री सुरेंद्र राठी व अन्य के साथ पीजीआई में जब पीडि़तों के परिजनों जिनमें जैली के पिता,चाचा,भाई तथा राठी के भाई व अन्यों से उन्होंने मुलाकात की तो उन्होंने शर्मा को बताया कि हादसे के बाद से ही किस तरह से कैथल की पुलिस व बिजली विभाग का रवैया रहा है।

उन्होंने शर्मा को बताया कि बिजली विभाग के अधिकारियों ने दोनों पत्रकारों के खिलाफ केस करने की धमकी दी तो पुलिस ने उसी को आधार बनाकर उन पर यह दबाब डालने का प्रयास किया कि वे पुलिस के इस ब्यान पर हस्ताक्षर कर दें कि वे किसी तरह का कोई केस नहीं करना चाहते और यह महज एक हादसा था। अन्यथा पुलिस उनके बच्चों के खिलाफ भी केस दर्ज करेगी।

पीडि़तों के परिजनों ने आप नेता योगेश्वर शर्मा को बताया कि इस हाईटैंशन वायर से पहले भी कई हादसे हो चुके हैं तथा कई लोग इसका शिकार हो चुके हैं।कैथल के लोग इस वायर को हटाने की लगातार मांग करते आ रहे हैं।मगर विभाग ने इस तरफ कभी भी कोई ध्यान नहीं दिया।हादसे की सूचना मिलने के करीब 2 घंटे बाद बिजली निगम के कर्मचारी एवं सिविल लाइन की पुलिस दुर्घटना स्थल पर पहुंची।बिजली निगम के कर्मचारियों ने डैमेज हुई तार को दुरुस्त किया।

इस पर योगेशवर शर्मा ने कहा है कि बिजली विभाग और पुलिस का यह रवैया पूरी तरह से निंदनीय और गैरजिम्मेदाराना है। योगेश्वर शर्मा ने कहा कि विभाग को अपनी जिम्मेवारी स्वीकारनी चाहिए और पीडि़त परिवार को धमकाने की बजाये उनकी मदद करनी चाहिए।

Comments

Translate »