मां-बाप ने PUBG गेम खेलने से मना किया तो नाबालिग बेटे ने उठाया कठोर कदम

नाबालिग बच्चे के माता पिता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पिछले 15 दिनों से वह कॉलेज भी नहीं गया है। रात में जब उसके माता-पिता सो जाते थे तो वह उनके मोबाइल से रातभर PUBG गेम खेलता रहता था।

ऑनलाइन गेम पबजी PUBG को लेकर किशोरों और युवाओं में दीवानगी कम होने का नाम नहीं ले रही है। नवी मुंबई में माता-पिता ने अपने 16 साल के बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। ऑनलाइन गेम खेलने से मना किए जाने पर उसने नाराज होकर घर छोड़ दिया। नवी मुंबई के नेरुल में रहने वाले आयुष छुदाजी जो नवी मुंबई के एचएससी का छात्र है , वह पिछले सोमवार को घर छोड़ कर चला गया। वह तब से अब तक घर वापिस नहीं लौटा है।

लड़के के माता-पिता की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार वह पिछले 15 दिन से कॉलेज में भी नहीं गया है। जब माता-पिता को मालूम हुआ कि उनका बेटा पबजी PUBG गेम का आदी हो गया है और पढ़ने के लिए भी नहीं जा रहा है तो उन्होंने उसको डांट लगाई। जिसके बाद नाबालिग लड़के ने कठोर कदम उठाते हुए घर छोड़ दिया।

दूसरी तरफ मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने जब मोबाइल में पबजी गेम को चेक किया तो पता चला की वह गेम के टॉप लेवल पर पहुंच गया था। जब पुलिस ने उसके कुछ दोस्तों से पूछताछ की तो उसके एक दोस्त ने बताया कि पबजी गेम के जरिए बने उसके एक दोस्त ने उसे पुणे एक साइबर कैफे में नौकरी देने का ऑफर दिया था। जहां उसके पास बिना किसी रोक-टोक के गेम खेलने का मौका होगा। पुलिस को शक है कि वह पुणे गया होगा। पुलिस पुणे के सभी साइबर कैफे खंगाल रही है। लेकिन अभी तक लापता नाबालिग का कोई सुराग नहीं मिला है।

Comments

Translate »