PUBG गेम ने ली एक और किशोर की जान

शिवपुरी कॉलोनी में बीती रात को एएसआई के 17 वर्षीय बेटे ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। परिवार वालों के अनुसार किशोर पिछले एक साल से मोबाइल पर पबजी गेम खेल रहा था। इसी वजह से उसने आत्महत्या की है।

हरियाणा के शहर जींद की शिवपुरी कॉलोनी में बीती रात को एक एएसआई ASI के बेटे ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों के अनुसार 17 वर्षीय किशोर पिछले एक साल से मोबाइल पर पबजी गेम खेल रहा था। पुलिस सूत्रों के अनुसार , शिवपुरी कॉलोनी निवासी सत्यवान एएसआई के पद पर कैथल में तैनात है। उनका 17 वर्षीय बेटा तरसेम 10 वी तक पढ़ाई करने के बाद घर पर ही रहता था। तरसेम पिछले एक साल से अपना ज्यादातर समय मोबाइल पर ही बिताता था। घर वालों को एक महीना पहले ही पता चला था कि वह मोबाइल पर पबजी गेम खेलता है।

परिवार वालों ने न्यूज़ एजेंसी भाषा को बताया कि उसको कई बार गेम खेलने से मना किया लेकिन वह नहीं माना। ‘तरसेम’ रात के 12 बजे तक गेम खेलता रहता था। शनिवार रात को 9 बजे तरसेम खाना खाकर अपने कमरे में चला गया। परिवार वालों ने सोचा की शायद सो गया होगा। जब उसकी मां किसी काम से उसके कमरे में गई तो वह फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल Hospital पहुंची पुलिस ने शव को ‘पोस्टमॉर्टम’ के बाद परिवार वालों को सौंप दिया। परिवार वालों के अनुसार तरसेम ने पबजी गेम PubG के कारण ही आत्महत्या की है।थाना प्रभारी दिनेश ने बताया कि तरसेम मोबाइल पर गेम खेलने का आदी था। जब परिवार वालों ने रात को उसे गेम खेलने से मना किया तो उसने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

Comments

Translate »