जूनियर को नेवी चीफ बनाने पर वाईस एडमिरल बिमल वर्मा ने सैन्य अदालत में लगाई गुहार

वाईस एडमिरल कर्मबीर को इंडियन नेवी का अगला चीफ बनाने पर वाईस एडमिरल बिमल वर्मा ने सैन्य अदालत का दरवाजा खटखटाया। अपनी याचिका में वाईस एडमिरल वर्मा ने सरकार के उस फैसले को चुनौती दी है जिसमें उनके जूनियर को उनकी वरीयता को नकारते हुए अगला नेवी चीफ बनाने का फैसला लिया है।

वर्तमान नेवी चीफ सुनील लांबा का 3 साल कार्यकाल इस वर्ष 31 मई को खत्म हो रहा है। उनकी जगह वाईस एडमिरल कर्मबीर सिंह पदभार संभालेंगे। कर्मबीर सिंह बिमल वर्मा को सुपरसीड करेंगे जोकि नेवी की सेवा में उनसे सीनियर हैं।

वाईस एडमिरल कर्मबीर सिंह पहले फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ जो हेलीकॉप्टर पायलट हैं और इंडियन नेवी के चीफ बनेंगे। सरकार ने पूर्वी नेवी कमांडर कर्मबीर सिंह को अगला नेवी चीफ नियुक्त किया है। सिंह नेवी चीफ सुनील लांबा का स्थान ग्रहण करेंगे।

भारतीय सेना में ये दूसरी बार हो रहा है जब वरिष्ठता के आधार पर नहीं बल्कि मेरिट लिस्ट के आधार पर किसी सेना के ऑफिसर का चयन हो रहा है। इससे पहले प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने जनरल बिपिन रावत को भी मेरिट आधार पर नियुक्त किया था।

वाईस एडमिरल कर्मबीर सिंह नेशनल डिफेन्स अकादमी के हंटर स्क्वाड्रन के 56वें कोर्स के अधिकारी हैं। सिंह मूल रूप से पंजाब के जालंधर के निवासी हैं। उन्होंने नेशनल डिफेंस अकादमी में शामिल होने से पहले महाराष्ट्र के देवलाली के बार्नेस स्कूल से ग्रेजुएशन किया। एक हेलीकॉप्टर पायलट होने के नाते कर्मबीर सिंह ने चेतक और कमोवस से उड़ान भरी है। उन्होंने चार समुद्री बेड़ों पर कमांड की है। न्यूज़ रिपोर्ट एएनआई

Comments

Translate »