बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद ने की सुसाइड की कोशिश, सफदरजंग अस्पताल में एडमिट

साल 2020 में कोरोनावायरस के कारण लगे Lockdown में सुर्खियों में आए बाबा का ढाबा ( Baba Ka Dhaba ) के मालिक कांता प्रसाद ने देर रात आत्महत्या की कोशिश की है । कांता प्रसाद को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। दिल्ली पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

कांता प्रसाद पिछले साल आए थे सुर्ख़ियों में

गत वर्ष कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन में अचानक सुर्खियों में आए बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद ने आत्महत्या की कोशिश है। दिल्ली के मालवीय नगर इलाके में रहने वाले कांता प्रसाद ने शराब पीकर नींद की गोलियां खाई और आत्महत्या की कोशिश की।  प्राप्त जानकारी के अनुसार के मामला गुरुवार रात करीब 10:00 बजे का है। जब कांता प्रसाद ने शराब के नशे में नींद की गोलियां खा ली थी।  प्रसाद को देर रात ही दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। अभी उनकी तबीयत खतरे से बाहर है। दिल्ली पुलिस को इस घटना के बारे में अस्पताल से जानकारी मिली है।

दिल्ली पुलिस के डीसीपी अतुल ठाकुर ने बताया है कि 80 वर्षीय कांता प्रसाद को देर रात सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रसाद ने शराब पी थी और नींद की गोलियां खा ली थी। कांता प्रसाद के बेटे का बयान दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच की जा रही है।

ब्लॉगर गौरव वासन ने बनाया था वीडियो

आपको बता दें पिछले साल फ़ूड ब्लॉगर गौरव वासन नाम के एक शख्स ने बाबा का ढाबा का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था। जिसके बाद बाबा की मदद के लिए देश भर के आम लोगों से लेकर सेलिब्रिटी तक ने हाथ बढ़ाया था। लगे लॉकडाउन में अचानक सुर्खियों में आए कांता प्रसाद को रातों-रात काफी शोहरत मिल गई थी। उनके ढाबा पर लोग खाने के लिए भीड़ लगाने लगे थे।

रातोंरात चमकी थी बाबा की किस्मत

गौरव आसन द्वारा कवर की गई स्टोरी के बाद बाबा का ढाबा के मालिक की किस्मत चमकी। लेकिन बाबा ने फ़ूड ब्लॉगर गौरव आसन पर ही धोखाधड़ी का आरोप लगाया था। जिसके बाद एक और फ़ूड ब्लॉगर ने पिछले हफ्ते बाबा का इंटरव्यू दिया था। जिसमें उन्होंने और वासन के बारे में पूछा था। कांता प्रसाद गौरव वासन को सच्चा इंसान बताते हुए माफी मांगी थी। इसके बाद गौरव वासन खुद बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद से मिलने गए थे। कांता प्रसाद और उनकी पत्नी के साथ गौरव वासन ने एक फोटो शेयर करते हुए लिखा था कि सारे गिले शिकवे खत्म। माफ करने वाला हमेशा ही बड़ा होता है। लेकिन इस मुलाकात के कुछ दिन बाद ही कांता प्रसाद ने आत्महत्या करने की कोशिश

मदद करने वाले पर ही लगाया था आरोप

बता दें , अचानक मिली शोहरत के बाद कांता प्रसाद ने गौरव आसन पर धोखाधड़ी के आरोप लगाए थे। इस पहल लॉकडाउन लग जाने की वजह से कांता प्रसाद को काम नहीं मिल रहा था। जब गौरव वासन ने उनकी वीडियो को वायरल किया तो उसके बाद उनके ढाबे पर लोग खाना खाने के लिए आए साथ ही लोगों ने डोनेशन देकर भी उनकी मदद की थी। जिसके बाद कांता प्रसाद ने ढाबा के नजदीक ही एक रेस्टोरेंट खोला था। लेकिन गौरव वासन को भला बुरा कहने की वजह से लोगों ने बाबा के ढाबा और रेस्टोरेंट पर जाना छोड़ दिया था। जिसके बाद बाबा ने अपना रेस्टोरेंट बंद कर दिया था और वापस अपने ढाबा पर चले आए थे।

Comments

Translate »