सर्जिकल स्ट्राइक पर पत्रकार द्वारा तीखे सवाल पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने पत्रकार को बोला मैं हिंदी समझती हूँ

भोपाल : रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण  ने प्रेस कांफ्रेंस में एक पत्रकार द्वारा किये गए वंग्यात्मक सवाल का जवाब देते हुए कहा, मैं हिंदी समझती हूँ।

संवादाता सम्मेलन

शुक्रवार को एक संवादाता सम्मेलन में एक पत्रकार ने वंग्यात्मक तरीके से रक्षा मंत्री निर्मला सीथारमन से पूछा, दो साल बाद भी एनडीए सरकार सीमा  पार सेना द्वारा  किए गए सर्जिकल स्ट्राइक की बीन  क्यों बजा रही है ?

निर्मला सीथारमन

इसके जवाब में निर्मला सीथारमन ने आहत भाव में कहा कि मैं हिंदी अच्छी तरह से समझती हूँ। आपके इस तरह वंग्यात्मक लहजे में सवाल पूछने से मुझे दुःख हुआ है।

अमीत शाह

मध्य्प्रदेश में चुनावी प्रचार की दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमीत शाह ने भी कई बार भारतीय सेना द्वारा सीमा  पार  किए गए सर्जिकल स्ट्राइक को कई  बार दोहराया है।

आपको बताते चलें सितंबर २०१६ में भारतीय सेना ने लाइन ऑफ़ कण्ट्रोल पार  कर उग्रवादियों के लॉन्चिंग पैड  ध्वस्त किए थे। जिसको बीजेपी सरकार ने अपनी उपलब्धि बनाने की कोशिश की थी।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के समय बीजेपी के कई  नेताओं ने चुनावी पोस्टरों में खुद के और पार्टी अध्यक्ष के सर्जिकल स्ट्राइक वाले पोस्टर लगाए थे। जोकि एक विवाद का विषय बन गया था।

कांग्रेस पार्टी

उस समय कांग्रेस पार्टी ने भी एनडीए सरकार को जमकर आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में भी ऐसे कई  तरह के सर्जिकल स्ट्राइक किए थे लेकिन कांग्रेस ने कभी इसका ढिंढोरा नहीं पीटा।

ये करवाई भारतीय सेना पहले से करती आ रही है। जिसका क्रेडिट सेना को ही मिलना चाहिए। ऐसे गुप्त ऑपरेशन के बारे में मिडिया में वाहवाही लूटने की जगह एनडीए सरकार को इस पर चुप रहना चाहिए।

क्यों असहज हुई रक्षा मंत्री?

पत्रकार ने पूछा था कि क्या ऑपरेशन के बारे में जनता के बीच ये जानकारी जाना जरूरी थी,और अगर यह सैनिकों के हित में था तो कांग्रेस सरकार ने कभी भी अपने शासनकाल में इस तरह का परिचलन नहीं किया।

जवाब में निर्मला सीथारमन ने कहा,देश के हर नागरिक को इसकी महिमा करनी चाहिए। क्या हमें दुश्मन पर हमला करने से शर्मिंदा होना चाहिए?उन्होंने आतंकवादियों की मदद से हमारे जवानों पर हमले किए। हमने उनके शिविर ध्वस्त कर दिए। 

रक्षा मंत्री का जवाब

निर्मला सीथारमन ने पत्रकार से प्रतिउत्तर करते हुए पूछा, हमें अपनी सेना पर गर्व महसूस करना चाहिए,जिन्होंने अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। क्या हमें इससे शर्मिंदा होना चाहिए? पत्रकार को जवाब देते हुए रक्षा  ने कहा,मुझे आपके इस तरह वंग्यात्मक तरीके से पूछे गए सवाल पर बेहद दुःख हुआ है।

Comments

Translate »