डोनाल्ड ट्रंप बने महाभियोग का दो बार सामना करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के इतिहास में ऐसे पहले राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ एक ही कार्यकाल में दो बार महाभियोग प्रस्ताव पारित हुआ है।

222 डेमोक्रेट्स के साथ-साथ 10 रिपब्लिकन सांसदों ने भी डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के प्रस्ताव का समर्थन किया है।यूएस में महाभियोग के लिए 218 मतों की जरूरत होती है। जबकि ट्रंप के पक्ष में 197 सांसदों ने मतदान किया है।ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के पक्ष में 232 वोट पड़े हैं।

डेमोक्रेटिक नियंत्रित अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ दूसरे महाभियोग पर बहस के बाद प्रस्ताव पास कर दिया है। अब ट्रंप का कार्यकाल खत्म होने के एक दिन पहले 19 जनवरी 2021 को सीनेट में ये प्रस्ताव लाया जाएगा। ट्रंप समर्थकों द्वारा अमेरिकी संसद भवन कैपिटोल हिल्स में जबरन घुसकर हिंसा करने को लेकर ये प्रस्ताव लाया गया है। कैपिटोल भवन में हुई हिंसा में चार ट्रंप समर्थक मारे गए थे।

ट्रंप के खिलाफ उनके कार्यकाल में दूसरी बार महाभियोग प्रस्ताव पास हुआ है।इससे पहले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने उपराष्ट्रपति माइक पेंस अपील की थी कि वो डोनाल्ड ट्रंप को पद से हटाने के लिए 25वे संशोधन को लागू करें।इस प्रस्ताव को 205 के मुकाबले 223 मतों से पारित किया गया था।

बता दें, जब कोई राष्ट्रपति अपने पद पर सेवा देने के लिए उपयुक्त नहीं रह जाता है तब महाभियोग चला कर उसे हटाकर किसी दूसरे व्यक्ति को नियुक्त किए जाने का प्रावधान होता है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार,सीनेट के नेता मैककोनेल का मानना है की ट्रंप ने महाभियोग की कार्यवाही लायक काम किया है इसलिए उनके खिलाफ यह कार्यवाही की जानी चाहिए ताकि अमेरिका को उसके जाल से बाहर निकाला जा सके।

Comments

Translate »