सानिया मिर्ज़ा ने मिक्स्ड डबल्स के सेमीफइनल में पहुंचकर अपने आखिरी Wimbledon को बनाया यादगार

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा ने अपने आखिरी विंबलडन को यादगार बना दिया है। सानिया ने अपने दमदार खेल का प्रदर्शन करते हुए वो कर दिखाया जो पहले कभी इस ग्रास कोर्ट वाले ग्रैंडस्लैम पर कभी नहीं किया गया था। सानिया मिर्ज़ा क्रोशिया के अपने जोड़ीदार मेट पेविक के साथ मिक्स्ड डबल्स के सेमीफइनल में पहुंच गई है। यह पहली बार है जब सानिया विंबलडन के सेमीफइनल में पहुंची है।

विश्व की छठी वरीयता प्राप्त सानिया मिर्ज़ा ने अपने जोड़ीदार मेट पेविक के साथ क्वार्टर फाइनल के मैच नंबर चार सीड जॉन पियर्स (John Peers ) और डबरोस्की ( Dabrowski ) के खिलाफ 6-4 3-6 7-5 से जीत हासिल की है।

विंबलडन के सेमीफइनल में सानिया और पेविक का मुकाबला दूसरे क्वार्टर फाइनल की विजेता जोड़ी से होगा। इससे पहले सानिया मिर्ज़ा ने मिक्स्ड महिला डबल्स में भी हिस्सा लिया था लेकिन वहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

ये भी पढ़ें, टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा ने की सन्यांस लेने की घोषणा

पेविक और सानिया को साझा युगल के दूसरे दौर में वॉक ओवर मिला था। इस जोड़ी ने पहले दौर में स्पेन के डेविड वेगा हर्नाडेज और जार्जिया की निटेला जलमिदजे को 6-4 3-6 7-6 से हराया था। अब दोनों ने क्वार्टर मैच में शानदार जीत हासिल की है। क्वार्टर फाइनल में सानिया का खेल शानदार रहा। अपने क्रोशिया के जोड़ीदार मेट के साथ उनकी जुगलबंदी कमाल की रही। वह अपने टेनिस के करियर में पहली बार मिक्स्ड डबल्स के सेमीफइनल में पहुंची।

आपको बता दें , सानिया मिर्ज़ा का ये आखिरी विंबलडन मैच है। जिसको वह मिक्स्ड डबल के सेमीफइनल में पहुंचकर यादगार बना चुकी है। सानिया का ख्वाब है कि वह ग्रास कोर्ट के सबसे बड़े मंच पर ख़िताब जीतकर अपने सफर का अंत करे।

Comments

Translate »