SC ने नूपुर शर्मा को लगाई फटकार, कहा-‘सत्ता सर चढ़ गई,’ देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गई

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित ब्यान देने के बाद बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ भारत ही नहीं विदेशों में भी बवाल मच गया था। शर्मा के विवादित ब्यान के को लेकर देश भर के कई पुलिस थानों में बीजेपी नेता के खिलाफ शिकायतें दर्ज कराई गई। अब नूपुर शर्मा को उनके कथित ब्यान को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा को माफ़ी मांगने और अपना ब्यान वापस लेने में काफी देर हो चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट पहुंची नूपुर शर्मा

भारतीय जनता पार्टी की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को उनके विवादित ब्यान को लेकर कड़ी फटकार लगाई है। दरअसल, नूपुर शर्मा अपनी विवादास्पद टिपण्णी को लेकर कई राज्यों में उनके खिलाफ दर्ज शिकायतों को दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। शुक्रवार के दिन नूपुर शर्मा ने कोर्ट में अपने वकील के माध्यम से कहा कि उनकी जान को खतरा है इसीलिए सभी प्राथमिकी दिल्ली में ट्रांसफर की जानी चाहिए। जिसपर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस सूर्यकांत ने शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा कि राजस्थान के उदयपुर के एक दर्जी कन्हैया हत्या के लिए नूपुर शर्मा का ब्यान ही जिम्मेदार है।

कोर्ट ने लगाई फटकार

नूपुर शर्मा की तरफ से वरिष्ठ वकील मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने (नूपुर शर्मा ) अपनी विवादित ब्यान के लिए माफ़ी मांग ली है और सभी टिप्णियों को वापस ले लिया है। जिसके जवाब में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन्हें टीवी पर जाकर देश से माफ़ी मांगनी चाहिए थी। उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए उनका ब्यान ही जिम्मेदार है। जहां एक दर्जी की हत्या कर दी गई। सर्वोच्च अदालत ने कहा कि नूपुर शर्मा को अपना ब्यान वापस लेने और माफ़ी मांगने में काफी देर हो चुकी थी।

बताया देश की सुरक्षा के लिए खतरा

जैसे ही नूपुर शर्मा के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उनकी जान को खतरा है, जस्टिस सूर्यकांत ने कहा -उन्हें खतरा है या वह देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं ? उन्होंने जिस तरह देश में भावनाओं को भड़काया और देश में जो हो रहा है उसके लिए वह अकेली जिम्मेदार है। अदालत ने पूछा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद दिल्ली पुलिस ने क्या किया ? उसकी शिकायत पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाता है। लेकिन नूपुर के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज होने के बाद भी दिल्ली पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की।

क्या कर रह है दिल्ली पुलिस ?

सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा- वह एक पार्टी की प्रवक्ता है और सत्ता उसके सर चढ़ गई है। जब नूपुर के वकील ने अदालत में कहा कि वह जांच में शामिल हो रही है और भाग नहीं रही है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा-वहां आपके (नूपुर शर्मा ) लिए रेड कॉरपेट होनी चाहिए। अंत में सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी प्रतिक्रियाएं देने के बाद नूपुर शर्मा के वकील को संबंधित हाई कोर्ट के पास जाने का सुझाव दिया। जिसके बाद नूपुर शर्मा ने अपनी याचिका वापस ले ली।

Comments

Translate »