कुरुक्षेत्र: सलपानी गुरदवरा साहिब में पहुंचे भगवंत मान,सिख समुदाय ने कहा ‘जी आया नूं’

पंजाब संगरूर लोकसभा एमपी भगवंत मान ने कुरुक्षेत्र के गांव सलपानी में सिख संगत को किया संबोधित।संगत को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मेरे पास दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का फोन आया था कि कुरुक्षेत्र के एक गांव में गुरुद्वारा साहिब में एक कार्यक्रम है।वहां जरूर जाना।मान ने कहा कि जैसा उनका हुक्म हुआ मै यहां चला आया।

kurukshetr: salapaanee guradavara saahib mein pahunche bhagavant maan,sikh samudaay ne kaha jee aaya noon

सबसे पहले उन्होंने प्रदेश में हो रही भ्रूण हत्या पर संगत में मौजूद सभी से अपील की कि जो बच्ची पेट में है और जन्म लेने वाली है उसकी हत्या करना बहुत बड़ा पाप है।क्या पता कल वो भी बच्ची भी किसी बड़े गायक नेता या फिर किसी मशहूर हस्ती को जन्म दे। इस लिए लड़कियों को भी जीने का उतना ही अधिकार है जितना लड़कों को है।इसी को लेकर उन्होंने पंजाबी भाषा में एक किस्सा भी सुनाया।

Aam Aadmi Party Sangrur Lok Sabha MP Bhagwant Mann addressed the Sikh community in SALPANI Village In Kurukshetra.

गुरुनानक देव जी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने अपनी दादी माँ द्वारा सुनाई गई कहानी का जिक्र किया जिसको संगत में मौजूद सभी श्रद्धालुओं ने बड़े गौर से सुना।मान ने कहानी का जिक्र करते हुए कहा कि जब एक गांव के नजदीक एक महात्मा जी रुके तो गांव वालों ने उनका अनुसरण करना शुरू कर दिया।इस पर नानक देव ने गांव वालों को कहा कि ये रास्ता बहुत ही कठिन है आप लोग मेरे साथ नही चल सकते।गांव वालों ने जिद्द की और कहा कि हम आपके साथ चलेंगें।

गुरुनानक देव जी उन सब को साथ लेकर निकल पड़े। जब नानक जी गांव वालों के साथ जा रहे थे तो उनके साथ बाबा मर्दाना जी भी साथ थे।चलते चलते रास्ते में में चांदी के ढेर नजर आए।कुछ लोगों ने उस चांदी के ढेरों से अपनी सामर्थ्य अनुसार चांदी उठाई और वापिस लौट गए।अगले पड़ाव पर सोने और हीरों के ढेर मिले जिसको उठाकर बचे हुए लोग वापिस अपने घरों को लौट गए।

सिर्फ बाबा मर्दाना अंत तक उनके साथ चले।इस पर बाबा गुरुनानक देव जी ने पूछा कि तुम वापिस क्यों नहीं गए जबकि सब लोग सोना चांदी हीरे जवाहरात लेकर लौट गए हैं।बाबा मरदाना ने जवाब दिया जिसके पास सोना चांदी हीरे जवाहरात देने वाले आप हों तो उससे अमीर आदमी कोई भी नहीं हो सकता। इस लिए मै हमेशा आप के साथ रहूंगा।

इस कहानी के बाद उन्होंने युवाओं को पारितोषिक भी दिए।उन्होंने वाद्य गायकों की भी प्रशंसा भी की और कहा कि ये सिख समुदाय की खास पहचान है।

वैसे तो लोगों के बीच भगवंत मान की छवि धूमिल सी नजर आती है।लोग उनको शराबी और बेवड़ा समझते हैं।लेकिन उनके विचार सुनकर लगा कि सिख धर्म और धर्म के बारे में उनको काफी जानकारी है। शायद यही वजह रही होगी कि दिल्ली से अरविंद केजरीवाल ने उनको खास तौर से फोन कर कुरुक्षेत्र के इस समागम में पहुंचने के लिए कहा हो।

दूसरी वजह आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर सिख समुदाय को रिझाने और वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए भी भगवंत मान को पंजाबी होने के नाते कुरुक्षेत्र पहुंचने के लिए बोला गया हो सकता है।

सिख समागम में दिल्ली वजीरपुर विधायक राजेश गुप्ता भी भगवंत मान के साथ दिखाई दिए हालाँकि उन्होंने सिर्फ लंगर छका कोई राजनैतिक भाषण नही दिया।
सिख समागम में आम आदमी पार्टी हरियाणा के कई पदाधिकारी भी नजर आए।कुरुक्षेत्र लोकसभा संघठन मंत्री सुखवीर सिंह,पिहोवा विधान सभा संगठन मंत्री सुमित हिंदुस्तानी लाडवा विधान सभा संगठन मंत्री बाबु राम,आप के वरिष्ठ नेता मेवा राम आर्य,परमिंदर नागरा, अमरीक सिंह प्रिंस आदि सैंकड़ों कार्यकर्ता सांसद भगवंत मान और विधायक राजेश गुप्ता के साथ नजर आए।

Video Source @Aap_kurukshetra

Comments

Translate »