खुशहाल देशों की सूचि में फिसला भारत ,पहुंचा 140वें पायदान पर

0
संयुक्त राष्ट्र विश्व खुशहाली रिपोर्ट में कुल 156 देशों में भारत पिछले साल के मुकाबले 7 पायदान फिसल कर 140वे स्थान पर पहुंच गया है।फ़िनलैंड लगातार दूसरे साल
संयुक्त राष्ट्र विश्व खुशहाली रिपोर्ट में कुल 156 देशों में भारत पिछले साल के मुकाबले 7 पायदान फिसल कर 140वे स्थान पर पहुंच गया है।फ़िनलैंड लगातार दूसरे साल

संयुक्त राष्ट्र विश्व खुशहाली रिपोर्ट में कुल 156 देशों में भारत पिछले साल के मुकाबले
7 पायदान फिसल कर 140वे स्थान पर पहुंच गया है। फिनलैंड लगातार दूसरे साल भी
पहले स्थान पर रहा।

फिनलैंड लगातार दूसरे वर्ष दुनिया का सबसे खुशहाल देश बनकर आया, उसके बाद डेनमार्क,
नॉर्वे, आइसलैंड और नीदरलैंड का स्थान है।

दुनिया का सबसे कम खुशहाल देश दक्षिण सूडान है जिसके बाद मध्य अफ्रीकी गणराज्य, अफगानिस्तान,
तंजानिया, रवांडा, यमन, मलावी, सीरिया, बोत्सवाना और हैती हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका 19 वें स्थान
पर आया है।

यह सातवीं विश्व खुशहाली रिपोर्ट है; पहली बार अप्रैल 2012 में “वेलबिंग एंड हैप्पीनेस, डिफाइनिंग
ए न्यू इकोनॉमिक प्रतिमान” पर संयुक्त राष्ट्र उच्च-स्तरीय बैठक के समर्थन में जारी किया गया था।

रिपोर्ट में ख़ास बात ये है कि भारत पड़ौसी मुल्क पाकिस्तान से भी पिछड़ गया है। रिपोर्ट के अनुसार
पाकिस्तान पिछले साल 75वे स्थान पर था और भारत 133वे, इस साल भारत का 140 वां स्थान रहा
वहीं पाकिस्तान का 67वां।

सूडान सबसे कम खुश देश घोषित किया गया है। सूडान में लगातार गृह युद्ध चल रहा है। सूडान के बाद
मध्य अफ़्रीकी राज्य 155वें,अफगानिस्तान 154 ,तंजानिया 153 ,रवांडा 152वें स्थान पर रहा। सबसे अमीर
देश होने के बाद भी अमरीका का 19वां स्थान रहा। डेनमार्क और नार्वे ने भी पिछले साल के मुकाबले
वृद्धि की है।

यह रिपोर्ट जॉन एफ,हेलिवेल, रिचर्ड लेयर्ड, जेफरी डी द्वारा तैयार की गई है।हेलिवेल ने कहा,“सबसे खुशहाल
और सबसे अच्छी तरह से जुड़े समाजों के बारे में जो बात सामने आती है, वह है उनका लचीलापन और बुरी
चीजों से निपटने की क्षमता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here