सुशांत सिंह राजपूत के निधन का फायदा उठाने वालों की बहन मीतू सिंह ने लगाई क्लास, कहा- आप उसके निधन का लाभ ना उठाएं

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन को करीब 1 साल होने वाला है। लेकिन जांच एजेंसियां उनकी मौत के कारणों पर अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची हैं। इतना ही है नहीं नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो भी अभिनेता के निधन से जुड़े कथित ड्रग एंगल की जांच कर रहा है।

सुशांत सिंह राजपूत आज भले ही इस दुनिया में ना हो लेकिन वह अपने प्रशंसकों के दिलों में अभी जिंदा है। 14 जून 2020 को अभिनेता अपने घर में मृत पाए गए थे। सुशांत के निधन के पीछे आत्महत्या बताई गई थी। हालांकि महाराष्ट्र पुलिस की थ्यूरी पर कोई विश्वास नहीं कर रहा है। सुशांत के निधन के बाद बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद को लेकर भी जमकर बहस हुई थी। फिलहाल इस केस की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो के पास है।

राजपूत के निधन को अब करीब 1 साल होने वाला है लेकिन एनसीबी ,सीबीआई और अन्य जांच एजेंसियां उनकी मौत के कारणों पर किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है। एनसीबी अभिनेता के निधन से जुड़े कथित ड्रग एंगल की इन्वेस्टिगेशन कर रहा है। सुशांत सिंह मौत मामले में कई लोगों की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। अब सुशांत की बहन मीतू  सिंह ने एक ट्वीट कर लोगों की जमकर क्लास लगाई है। जो उनके निधन का फायदा उठा रहे हैं।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के निधन पर शोक व्यक्त करने वाले कुछ लोग, अभिनेता को श्रद्धांजलि देकर पैसा कमाने की कोशिश कर रहे हैं। फिल्मों से लेकर किताबों तक पर दान अभियान चल रहा है। उनकी पुण्यतिथि से पहले एसएसआर नाम पर बहुत कुछ किया जा रहा है। इसी को लेकर सुशांत सिंह राजपूत की बहन को गुस्सा आया और उन्होंने अभिनेता के निधन का फायदा उठाने वालों की जमकर क्लास लगाई है।

सुशांत सिंह की बहन मीतू सिंह ने लिखा कि यह लोग एक विनाशकारी त्रासदी को फायदे में बदल रहे हैं। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसे ‘अमानवीय’ बताया। उन्होंने आगे लिखा कि दुर्भाग्य से यह हमारे सामने में आया है कि कुछ लोग अपने निजी स्वार्थ के लिए हमारी स्थिति का फायदा उठा रहे हैं। जो एक अमानवीय कृत्य है। इन सभी लोगों को खुद को ऐसा करने से बचना चाहिए।

मीतू सिंह ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा,” हम यह भी सभी के ध्यान में लाना चाहते हैं कि परिवार ने एसएसआर के नाम पर किसी को दान या धन जुटाने के लिए अधिकृत नहीं किया है और किसी को भी एसएसआर के बारे में या उससे संबंधित कुछ भी करने की सहमति नहीं है, चाहे वह फिल्म हो, किताब हो या एक व्यापार।”

Comments

Translate »