गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह

0
गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह
फोटोः परमबीर सिंह

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की याचिका में कहा गया है कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ आरोपों की सीबीआई जांच तुरंत निष्पक्ष और सही तरीके से कराई जाए और उनके ट्रांसफर को रद्द किया जाए।

पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की

मशहूर उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के पास जिलेटिन से लदी कार बरामद होने के बाद सियासी घमासान मचा हुआ है । मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है । परमबीर सिंह ने अपने पत्र मामले में याचिका दाखिल करके सीबीआई की जांच की मांग की है ।

पूर्व मुंबई पुलिस सीपी परमबीर सिंह की याचिका में कहा गया है कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ आरोपों की सीबीआई जांच तुरंत निष्पक्ष और सही तरीके से कराई जाए, साथ में उनके ट्रांसफर को भी रद्द किया जाए ।

गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया

बता दें कि मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने पत्र लिखकर गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया था कि उन्होंने निलंबित अफसर वाजे को 100 करोड़ों पर वसूली करने के लिए हर महीने का टारगेट दिया था । इस मामले को लेकर राजनीति तेज हो गई है ।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री देशमुख पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का मुद्दा आज लोकसभा और राज्यसभा में भी उठाया गया है। संसद में बीजेपी के मनोज कोटक ने 100 करोड़ का मुद्दा उठाया । वहीं पार्टी के सांसद राकेश सिंह ने सदन में कहा कि महाराष्ट्र में बेमेल गठबंधन की सरकार है । क्या वजह है वह अब गृह मंत्री को बचाया जा रहा है ? इस बात की निष्पक्ष जांच केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा कराई जानी चाहिए , साथ में उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के इस्तीफे की भी मांग की है ।

मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत

रिलायंस कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित निवास एंटीलिया के पास एक स्कॉर्पियो गाड़ी में विस्फोटक मिलने और फिर गाड़ी को उसके संभावित मालिक मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत की जांच चल रही है । इस मामले में मुंबई पुलिस के आयुक्त परमबीर सिंह को होमगार्ड विभाग में ट्रांसफर कर दिया था । इसके बाद परमबीर सिंह ने उद्धव ठाकरे को एक चिट्ठी लिखकर गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे और कहा था कि उन्होंने कई पुलिस अफसरों के सामने 100 करोड रुपए की वसूली का लक्ष्य रखा था ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here