जापान के पूर्व पीएम शिंजों आबे के हत्यारे ने खुद बनाई थी बंदूक, मां दिवालियापन से था नाराज

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की 8 जुलाई 2022 को नारा शहर में एक चुनावी रैली के दौरान यामगामी नाम के एक शख्स ने गोली मारकर हत्या कर दी थी । हत्यारे को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया था । अब शिंजो आबे को गोली मारकर हत्या करने वाले तत्सुया यामगामी ( Tatsuya यामगामी ) ने हमले की वजह बताई है ।

हत्या का वीडियो वायरल

जापान के टीवी चैनलों पर दिखाए जा रहे एक वीडियो में एक व्यक्ति चुपके से जापान के सबसे लंबे समय तक रहे प्रधानमंत्री शिजों आबे के पास आता है और उनपर फायरिंग करता है । वह चौराहे पर भाषण दे रहे शिंजो आबे के पीछे आता है और काले रंग की प्लास्टिक में लिपटे हथियार से दो बार फायर करता है । हालांकि उसका पहला निशाना मिस हो गया । धमाके की आवाज सुनकर जब शिंजों आबे ने पीछे देखा तो हत्यारे ने दूसरी गोली पीएम की छाती पर दाग दी । जिसके बाद शिंजो आबे जमीन पर गिर गए । उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया । जहां डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की भरपूर कोशिश की लेकिन बचा नहीं पाए ।

मां का दिवालियापन

यामगामी के पड़ोसियों ने समाचार एजेंसी रायटर्स को बताया कि वह घर में अकेला रहता था और किसी से बात करना पसंद नहीं करता था। न्यूज़ एजेंसी क्योदो ने लिखा कि तत्सुया यामगामी का मानना है कि शिंजो आबे ने एक धार्मिक समूह को बढ़ावा दिया है । जिसके कारण उसकी मां से सबकुछ दान कर दिया था और वह दिवालिया हो गई थी । स्थानीय मीडिया के अनुसार पुलिस द्वारा पूछे जाने पर यामगामी ने कहा ,” शिंजो आबे के कारण मेरी मां एक धार्मिक समूह से जुड़ गई थी । मैंने इसका विरोध किया था ।” हालांकि, नारा पुलिस ने उस समूह का नाम नहीं बताया , जिससे नाराज आरोपी ने पीएम हत्या की थी ।

खुद बनाई थी बंदूक

जापानी मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार , यामगामी ने बंदूक बनाने के लिए कुछ सामान ऑनलाइन खरीदा था । जिसको जोड़कर उसने शिंजों आबे की हत्या करने के लिए गन तैयार की थी । उसने पीएम की हत्या करने के लिए कई महीने तक योजना बनाई थी । यामगामी ने शिंजो की कई रैलियों में भी हिस्सा लिया था ।

एनएचके की रिपोर्ट के अनुसार , बंदूक से पहले उसने बम से हमला करने पर विचार किया था । आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने स्टील के पाइप को टेप से लपेटकर गन बनाई थी ।

जापान की नेवी के प्रवक्ता ने बताया कि तत्सुया यामगामी नाम का एक व्यक्ति 2002 से लेकर 2005 तक मेरीटाइम सेल्फ डिफेंस फ़ोर्स में काम कर चूका है । लेकिन प्रवक्ता ने यह नहीं बताया कि यह व्यक्ति वही है जिसने जापान के पूर्व पीएम शिंजों आबे की हत्या की है ।

Comments

Translate »