पश्चिम बंगाल बीजेपी नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार

भारतीय जनता पार्टी के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी को बिष्णुपुर अदालत में पेश किया गया। जहां से अदालत ने उन्हें 4 दिन की पुलिस हिरासत में रविवार के दिन भेज दिया है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए श्यामा प्रसाद मुखर्जी को रविवार के दिन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मुखर्जी पर बिष्णुपुर नगर पालिका के अध्यक्ष रहते हुए सरकारी धन की हेराफेरी का आरोप है। बाकुंडा पुलिस अधिकारी धृतिमान सरकार ने एएनआई को बताया,” श्यामा प्रसाद मुखर्जी को बिष्णुपुरर नगर पालिका में अध्यक्ष के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान धन के कथित दुरुपयोग और इस्तेमाल के आरोप में गिरफ्तार किया गया है ।”

श्यामा प्रसाद मुखर्जी को रविवार के दिन बिष्णुपुर अदालत में पेश किया गया। जहां उन्हें 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है। विष्णुपुर नगर पालिका के चेयरमैन पद पर रहते हुए श्यामा प्रसाद मुखर्जी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हो गए थे।

एसडीओ विष्णुपुर की तरफ से मिली शिकायत के बाद बाकुंडा पुलिस ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को गिरफ्तार किया है।  उपमंडल अधिकारी ने अपनी शिकायत ने कहा कि मुखर्जी ने चेयरमैन के कार्यकाल के दौरान वित्तीय हेराफेरी की है।

आपको बता दें, श्यामा प्रसाद मुखर्जी ममता बनर्जी की टीएमसी पार्टी में रहते हुए कपड़ा मंत्री भी रह चुके हैं। हालांकि विधानसभा चुनाव  2021 से ठीक पहले उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था ।

पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने मुखर्जी की गिरफ्तारी के बाद कहा ,” कई लोगों पर घोटाले के आरोप हैं। जांच के बाद उन्हें दंडित किया जाना चाहिए, चाहे वे किसी भी पार्टी के हों। टीएमसी से बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। “

Comments

Translate »