पांच राज्यों में हार के बाद अब देश से भी भाजपा की विदायगी की शुरुआत होगी: योगेश्वर शर्मा

योगेश्वर शर्मा ने कहा,इस बार दिल्ली में बीजेपी का खाता  भी नहीं खुलेगा। हरियाणा में हो रहे नगर निगम के चुनावों पर भी होगा इस हार का असर। 


पंचकूला,11 दिसंबर। आम आदमी पार्टी का कहना है कि देश के तीन बड़े राज्यों में भाजपा की करारी हार और दो राज्यों में उसकी नाममात्र की उपस्थिति अब उसके लिए केंद्र से भी उसकी विदायगी की नींव रखेगी।

आम आदमी पार्टी कहना है कि आने वाले जिन जिन राज्यों में भी चुनाव होंगे भाजपा का इससे भी बुरा हश्र होगा क्योंकि अब देश के लोगों ने अपना गुस्सा खुलकर भाजपा के खिलाफ निकालना शुरु कर दिया है। 

आम आदमी पार्टी ने यह भी कहा है कि यह भाजपा के तानाशाही राज का अंत होने की शुरुआत भर है।पार्टी ने पांचों राज्य की जनता को भाजपा को उसकी असली जगह दिखाने के लिए बधाई दी है। 

आज यहां जारी एक ब्यान में पार्टी के अंबाला लोकसभा और जिला पंचकूला के अध्यक्ष योगेश्वर शर्मा ने कहा कि भाजपा के गिरते ग्राफ का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह आम चर्चा है कि वोट बैंक वटोरने के लिए केंद्र की सरकार ने आरबीआई के गर्वनर उर्जित पटेल पर अनुचित दबाब बनाने का प्रयास किया जिसके चलते उन्हें गर्वनर पद से त्यागपत्र देना पड़ गया। 

उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के संभावित हश्र को ध्यान में रखते हुए ही उसके कई दिगगज नेताओं ने अगला चुनाव लडऩे से ही इंकार करना शुरु कर दिया है और कई फिल्मी हस्तियों ने भी भाजपा के डूबते हुए जहाज में स्वार होने से साफ मना कर दिया है। 

योगेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि हरियाणा में हो रहे नगर निगम के चुनावों पर भी भाजपा की इन राज्यों की हार का सीधा असर पड़ेगा। क्योंकि लेाग अभी से ही जहां जहां नगर निगम के चुनाव हैं,वहां वहां राज्य की भाजपा सरकार को आईना दिखाने का काम कर रहे हैं।आम आदमी पार्टी का कहना है कि सरकार की वायदा खिलाफी और उसकी गलत नीतियों से तंग आ चुके लोग अब भाजपा के उम्मीदवारों को अपने घर की दस्तक पर भी देखना नहीं चाहते। क्योंकि भाजपा ने प्रदेश व देश के लोगों से पिछले चार सालों में खूब छल किया है। आम आदमी की हालत इस पार्टी की सरकारों ने काफी खस्ता कर दी है। इस लिए लोग भी अब इस पार्टी को सत्ता से बाहर करने का मन बनाये बैठे हैं। 

प्रदेश में होने जा रहे नगर निगम के चुनावों में भाजपा की हालत पतली होती अभी से साफ नजर आ रही है। लोग अब भाजपा के उम्मीदवारों को अपने घर गली या मुहल्लों में भी घुसने देना नहीं चाहते। इसी लिए सबने अपने अपने इलाकों में अपने घरों  के बाहर ऐसे शब्द लिखकर लगा डाले हैं जोकि भाजपा के प्रति लेागों की नारजगी को साफ दर्शा रहे  हैं।  यही हाल भाजपा का आने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में भी होगा। शर्मा ने कहा कि एन्हांसमेंट के मामले को लेकर सरकार से नाराज हिसार में जहां लोगों ने अपने अपने घरों के बाहर ये स्टिकर चिपका दिए हैं कि भाजपा उम्मीदवार डोरबैल न बजाये तो वहीं रोहतक में सोनीपत रोड़ के पास के इलाकें में किसी ने यह लिखकर कर टांग दिया है कि भाजपा को वोट न दें। 

इसके आलावा रोहतक में यह लिखकर टांगा गया है कि वोट मांग कर शर्मिंदा न करें। उन्होंने कहा कि हिसार में सेक्टरों की हाउस वैलफेयर एसोसिएशनों ने तो वकायदा भाजपा उम्मीदवारों को वोट न देने की अपील करने का अभियान छेड़ रखा है। 

 उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की यही खूबी है कि सरकार से नाराज सत्तारुढ पार्टी के खिलाफ अपनी आवाज उठा सकते हैं। ऐसे में सरकार को यह समझ लेना चाहिए कि जनता अपने साथ की गई वायदा खिलाफी के लिए या खुद को परेशान किए जाने के लिए सत्तारुढ पार्टी को कभी माफ नहीं करती और इसका सही वक्त आने पर मूंहतोड़ जाबाब देती है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी लोगों की इन सभी समस्याओं को आने वाले समय में और भी जोर शोर से उठायेगी।

Comments

Translate »