केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने की ज्योति को SAI में प्रशिक्षण दिलाने की सिफारिश

1
Union Minister Ram Vilas Paswan recommended to train Jyoti Kumari with Sports Authority of India
ज्योति कुमारी

ज्योति कुमारी ने लॉकडाउन काल में गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा तक 1200 किलोमीटर की दुरी अपने अपाहिज पिता को साइकिल पर बैठाकर तय की थी। ज्योति के लिए केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने भारतीय खेल प्राधिकरण में प्रशिक्षण दिलाने की सिफारिश की है।

कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है। ऐसे में यातायात के सभी साधन बंद होने के कारण प्रवासी मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकल पड़े हैं। कुछ मजदूर तो घर जाने के लिए यमुना नहर को भी तैर कर पार कार रहे हैं।

पिछले दिनों ज्योति कुमारी का एक ऐसा ही मामला खूब चर्चा में रहा। ज्योति पासवान लॉकडाउन में अपने अपाहिज पिता को हरियाणा के गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा जिला तक लगभग 1200 किलोमीटर तक साइकिल पर बैठाकर ले गई।

भारतीय खेल प्राधिकरण

मीडिया की सुर्ख़ियों में आने के बाद उनके इस साहसिक कार्य की खूब तारीफ हुई। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने उनकी खूब तारीफ की। अब केंद्रीय  मंत्री राम विलास पासवान ने ज्योति पासवान को भारतीय खेल प्राधिकरण दिल्ली में साइकलिंग के लिए प्रशिक्षण और वजीफा दिलाने की सिफारिश की है।

मंत्री राम विलास पासवान का ट्वीट

राम विलास पासवान ने ट्विटर पर खेल मंत्री किरण रिजिजू को टैग करते हुए लिखा ,” मैं केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू से आग्रह करता हूँ कि पूरी दुनिया में साहस की मिसाल कायम करने वाली देश की बेटी ज्योति पासवान को साइकलिंग की प्रतिभा को और अधिक निखारने के लिए इसके उचित प्रशिक्षण और छात्रवृति की व्यवस्था करें। ” ये ट्वीट उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को भी टैग किया है।

किरेन रिजिजू

जिसके बाद भारत के युवा मामले और खेल राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने लिखा ,” मैं विश्वास दिलाता हूँ ,राम विलास पासवान जी, SAI अधिकारीयों और साइकलिंग फेडरेशन से ज्योति कुमारी के परीक्षण के बाद मुझे रिपोर्ट करने के लिए कहूंगा। यदि संभावित पाया तो उसे नई दिल्ली में आइजीआइ स्टेडियम परिसर में राष्ट्रीय साइकलिंग अकादमी में प्रशिक्षु के रूप में चुना जाएगा। ” इस तरह ज्योति कुमारी के लिए दो मंत्रियों ने ट्वीट किए। ये भी पढ़ें : रील लाइफ का हीरो सोनू सूद बना प्रवासी मजदूरों का नायक,एक मैसेज पर पहुंचा रहा है घर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here