पवन खेड़ा को मिला तपस्या का फल, कांग्रेस ने किया प्रमोट, राज्यसभा में नहीं भेजने से थे नाराज

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की मंजूरी के बाद पवन खेड़ा को प्रमोट किया गया है। कांग्रेस ने खेड़ा को अपने नए कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के मीडिया एंड पब्लिक सेल का चेयरमैन नियुक्त किया है।

मिला ये पदभार

पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल की तरफ से जारी किए गए पत्र में यह जानकारी दी गई है कि पवन खेड़ा को तत्काल प्रभाव से न्यू कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के मीडिया एंड पब्लीसिटी सेल का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। दरअसल राज्यसभा चुनाव से पहले पवन खेड़ा खुद को सदन का उम्मीदवार बनाए जाने का दावा कर रहे थे। लेकिन उन्हें यह मौका नहीं मिला था। इस पर उन्होंने दुख जताते हुए ट्वीट किया था। उन्होंने कहा था कि शायद मेरी तपस्या में कोई कमी रह गई होगी। माना जा रहा है कि पवन खेड़ा को राज्यसभा में भेजने की भरपाई के लिए कांग्रेस ने उन्हें पदोन्नत किया है।

सोनिया गांधी की अनुमति

केसी वेणुगोपाल की तरफ से जारी पत्र में कहा गया है,” अध्यक्ष सोनिया गांधी की अनुमति से पवन खेड़ा को मीडिया एवं पब्लिसिटी डिपार्टमेंट का चेयरमैन नियुक्त किया जाता है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू हो जाती है। आपको बता दें कि मई के आखिरी सप्ताह में कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों का ऐलान किया था। इस सूची में पवन खेड़ा का नाम नहीं था। जो दावेदारी कर रहे थे। इस पर उन्होंने ट्विटर पर कहा था कि ‘शायद मेरी तपस्या में कुछ कमी रह गई है।’

नाराजगी को किया दूर

उनके इस ट्वीट की सियासी हलकों में काफी चर्चा हुई और इसे कांग्रेस से भी उनकी नाराजगी के तौर पर देखा गया। यही नहीं उनके स्ट्रीट को कांग्रेसी नेता नगमा ने रीट्वीट किया था। पूर्व अभिनेत्री नगमा पवन खेड़ा के ट्वीट को शेयर करते हुए इमरान प्रतापगढ़ी पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था कि हमारी भी 18 साल की तपस्या इमरान प्रतापगढ़ी के आगे कम पड़ गई है। आपको बता दें, गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा जैसे कई दिग्गज नेताओं को भी कांग्रेस ने इस बार राज्यसभा नहीं भेजा।

Comments

Translate »